‘Felicitation Ceremony’ for Chhatishgarh CM, Ministers & Legislatures at Shanti Sarovar Retreat Centre

19

Raipur (CG): A ‘Felicitation Ceremony’ to honor the Chief Minister Mr. Bhupesh Baghel, Ministers, and the Members of the Legislative Assembly of Chhattisgarh State was organised at Brahma Kumaris, Shanti Sarovar Retreat Center here.

In his speech Hon. Chief Minister, Mr. Bhupesh Baghel said, “To establish Moral and Spiritual Values in the Society, the Brahma Kumaris are doing commendable services that need no mention because all are aware of it. Since the very first Budget Session of the Legislative Assembly when Mr. Rajendra Prasad Shukla was its Chairman, we were served Brahma Bhojan (food offered to God) by the Brahma Kumaris. Even today we have gathered here in this function to receive that food again like a tradition of Brahma Kumaris.”

Bro. BK Mruthyunjaya, Executive Secretary of the Brahma Kumaris from Mount Abu, addressing the elite audience said, “Chhattisgarh is rich in its Cultural and Spiritual Tradition. On this basis only the development of this State must take place but not with the mere Power of Science and Technology so that it may become the Role Model for the entire Country…… India has progressed in the field of Technology. It is very good but growth of Spiritual Values is also essential.” He invited everyone to make their State of Chhattisgarh totally free from Sins, Sorrows, all Vices and Fears with the Power of Spirituality and Morality. He said that Moral and Spiritual education is important to change thoughts and beliefs in the Human Minds. He invited all the Ministers to visit the Brahma Kumaris Head Quarter at Mount Abu where they will receive new inspirations.

He further said, “Chhattisgarh is a new State, New Raipur is a new Capital City very beautifully built.” On behalf of Revered Rajyogini Dadi Janki, Chief of the Brahma Kumaris, extending her blessings and best wishes he said, “Dadiji’s desire is that Chhattisgarh State must develop as an Example of Moral Values and Spiritual Strength for the whole Nation.”

BK Mruthyunjaya then felicitated the Hon. Chief Minister, Mr. Bhupesh Baghel; Speaker of the State Legislative Assembly Dr. Charan Das Mahant; State Leader of the Opposition, Mr. Dharamlal Kaushik, and Former Cabinet Minister Mr. Brij Mohan Agrawal, along with all the ministers and MLAs by presenting them shawls and mementos.

BK Kamala, Brahma Kumaris Centre In-Charge in Raipur, welcomed all the Guests on the occasion and presided over the whole function.

BK Hemalata, Zonal Co-ordinator of Raipur, and BK Asha, Centre in-Charge of Bhilainagar, were also present on this occasion.

News in Hindi:

मंत्रियों और विधायकों का शान्ति सरोवर में सम्मान समारोह सम्पन्न
विज्ञान के बल पर नहीं अपितु नैतिक और आध्यात्मिक शक्तियों से करें राज्य का विकास …
रायपुर, ११ फरवरी, २०१९: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के अतिरिक्त महासचिव ब्रह्माकुमार मृत्युजंय भाई ने कहा कि छत्तीसगढ़ आध्यात्मिक और सांस्कृतिक परम्पराओं से अत्यन्त भरपूर राज्य है। इसका विकास विज्ञान के बल पर नहीं अपितु नैतिक और आध्यात्मिकता के आधार पर करने की जरूरत है ताकि यह राज्य सारे देश के लिए रोल मॉडल बन सके।
ब्रह्माकुमार मृत्युजंय भाई ब्रह्माकुमारी संगठन के राजनीतिक सेवा प्रभाग द्वारा विधानसभा रोड पर स्थित शान्ति सरोवर में मंत्रियों एवं विधायकों के लिए आयोजित सम्मान समारोह में अपने विचार रख रहे थे। उन्होंने बतलाया कि कल उन्हें दिल्ली में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर आधारित ग्लोबल समिट में भाग लेने का अवसर मिला वहाँ उन्हेें यह जानने को मिला कि टेक्नॉलाजी के क्षेत्र में हमारे देश ने बहुत तरक्की की है। विज्ञान के सहयोग से तरक्की करना अच्छा है किन्तु आध्यात्मिक मूल्यों का विकास भी जरूरी है। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य को नैतिक और आध्यात्मिकता के आधार पर भयमुक्त, पाप मुक्त, दु:खमुक्त और विकारमुक्त बनाएं। उन्होंने लोगों के जीवन को मूल्यनिष्ठ बनाने पर जोर देते हुए कहा कि मनुष्य के मस्तिष्क को परिवर्तन करने के लिए नैतिक और आध्यात्मिक शिक्षा की आवश्यकता है। उन्होंने सभी विधायकों को पुन: माउण्ट आबू में आने का निमंत्रण दिया ताकि वहाँ से नवीन प्रेरणाएं प्राप्त कर सकें।
उन्होंने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ नया राज्य है, नया रायपुर में नई राजधानी बहुत सुन्दर बनी है। उन्होंने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की मुख्य प्रशासिका दादी जानकी की ओर से सभी को शुभकामना देते हुए कहा कि उनकी शुभ इच्छा है कि छत्तीसगढ़ राज्य नैतिक और आध्यात्मिक शक्तियों के बल पर खूब विकास करे, नम्बर वन बने और सारे देश के लिए यह राज्य रोल माडल बने।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने संक्षिप्त सम्बोधन में कहा कि ब्रह्माकुमारी संगठन नैतिक और आध्यात्मिक मूल्यों की स्थापना की दिशा में सराहनीय कार्य कर रही है। हम सभी इससे भलीभॉति परिचित हैं। इसलिए इस संगठन की सेवाओं को दोहराने की जरूरत नहीं है। प्रथम विधानसभा के समय से तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल के समय से यह परम्परा बनी हुई है कि बजट सत्र के अवसर पर हम सभी ब्रह्मा भोजन के लिए यहाँ एकत्रित होते हैं। उसी परम्परा के निर्वहन के लिए हम यहाँ उपस्थित हैं।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमार मृत्युजंय भाई ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महन्त, नेता प्रतिपक्ष श्री धरम लाल कौशिक और पूर्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल सहित समस्त मंत्रियों और विधायकों का शॉल और स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मान किया। प्रारम्भ में क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने समस्त अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में क्षेत्रीय समन्वयक ब्रह्माकुमारी हेमलता दीदी और भिलाई सेवाकेन्द्र की इन्चार्ज ब्रह्माकुमारी आशा दीदी भी उपस्थित थीं।