Seminar on ‘Value Based Journalism’ in Narsinghpur (MP)

545

Narsinghpur (MP): The media wing of the Brahma Kumaris organized a program titled ‘Value Based Journalism- Need and Challenges‘, here.

It was inaugurated by  Prof. Kamal Dixit, Senior Journalist & Former Head of Journalism, at Makhanlal Chaturvedi National University of Journalism, Bhopal, BK Pawan Pandey, Member of Media Wing from Jabalpur, BK Narayan, Media Wing Member from Indore and BK Kusum, Head of the Brahma Kumaris center Narsinghpur.

Prof. Dixit, speaking on this occasion said that Journalism should be practiced as a responsibility towards the society. Greed for power and money is the cause for decline in morals of journalism today. Privatization of media ownership has also added to it. Paid news menace is plaguing the media scenario today. Inspite of this, journalists can stick to their ethics if they are firm about it.

BK Kusum, said that the aim of the Brahma Kumaris is to dispense morals in the society. For this twenty different wings have been made to work in different fields. The more internally strong journalists are, the better work they can do. Rajayoga meditation is a powerful method of internal strengthening. Media can help prevent the value degradation in society by highlighting the positive aspect of news.

BK Narayan from Indore apprised the audience about the aims and ideals of the Brahma Kumaris. BK Pawan Pandey explained the work of the media wing and BK Sadhna made everyone experience Rajayoga meditation.

News in Hindi:

प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्याालय, दिव्य संस्कार भवन, नरसिंहपुर में  मीडिया प्रभाग द्वारा ‘मूल्यनिष्ठ पत्रकारिता आवश्यकता और चुनौतियाँ’ परिसंवाद का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के पूर्व अध्यक्ष तथा वरिष्ठ पत्रकार प्रोफेसर कमल दीक्षित, इंदौर से पधारे हुये मीडिया विंग के सदस्य भ्राता नारायण भाई जी, मीडिया विंग सदस्य जबलपुर भ्राता पवन पाण्डे जी एवं नरसिंहपुर सेवाकेन्द्र संचालिका ब्र.कु. कुसुम बहन जी द्वारा दीप प्रज्जवलन करके किया गया।
वरिष्ठ पत्रकार कमल दीक्षित ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुुये कहा कि सामाजिक प्रतिबद्धता के बिना पत्रकारिता की कल्पना भी नहीं की जा सकती। मूल्यों पर अडिग रहेंगे तो सत्ता संघर्ष तय है पर इसकी परवाह न करें। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता पर भरोसा किया जाता है। पत्रकारों को अपनी इस विश्वसनीयता को बनाएं रखना होगा। अखबारों के माध्यम से पूर्व में अनेक सामाजिक परिवर्तन हुए हैं और यह सिलसिला चल रहा है। उन्होंने कहा कि मुनाफा कमाने की इच्छा से नैतिक मूल्य कमजोर हो रहे हैं। इस स्थिति में पत्रकारों के दायित्व बढ़ते है। भारत में सामाजिक सरोकार को लेकर अखबार निकले किंतु 1960 के बाद स्थिति बदलने लगी और 1980 के बाद पत्रकारिता तेजी से व्यवसाय की ओर बढी। जिसके चलते मानवीय मूल्य और विकास पिछड़ने लगा। मुनाफे के कारण मूल्यों से समझोैता होने लगा। 
श्री दीक्षित ने कहा कि कभी कल्पना नहीं की गई थी कि पेड न्यूज जैसी बात सामने आयेगी। किंतु इसका सामना हमें करना पड़ रहा हैं अब पेड न्यूज का स्वरूप बदला गया है। अब पत्रकारोें को विज्ञापन का लक्ष्य दिया जाता है। जबकि पत्रकार को खबर का लक्ष्य दिया जाना चाहिए।
सेवाकेन्द्र संचालिका ब्र.कु.कुसुम बहन जी ने कहा कि इस संस्था का उद्देश्य समाज को मूल्यनिष्ठ बनाना है अगर मानव जीवन में श्रेष्ठता और महानता है तो उसमें छिपे हुये मानवीय मूल्य है। उन्होंने बताया कि ब्रम्हाकुमारी संस्थान के द्वारा समाज के विभिन्न वर्गों में मूल्यों की स्थापना द्वारा एक मूल्यनिष्ठ समाज की स्थापना हेतु 20 प्रभाग बनाये गये है। मुख्य बात यह है कि मीडिया में ही समाज परिवर्तन करने की ताकत है मीडिया कर्मी जितने शारीरिक व मानसिक रूप से शसक्त, मूल्यनिष्ठ,सकारात्मक एवं मजबूत होंगे उतना ही अच्छी सामग्री आप जनता को खबर के माध्यम से दे सकेंगे। अगर हम किसी को वक्तव्य के द्वारा प्रेरणाओं के द्वारा सुधारने की कोशिश करें तो हम कम लोगों तक अपनी आवाज को पहुॅचा सकते है। लेकिन मीडिया एक ऐसा क्षेत्र है जो लाखों लोगों को आप एक एक  मीडिया कर्मी अपनी कलम के माध्यम से मूल्यों को समाज में लाने की प्रेरणा दे सकते है। जिस प्रकार समाज में गिरावट आ रही है उस गिरावट को रोकने का एक मुख्य आधार मीडिया ही है।
इंदौर से पधारे हुये मीडिया विंग के सदस्य भ्राता नारायण भाई जी ने संस्था का परिचय देते हुए कहा कि प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय एक आध्यात्मिक एवं चारित्रिक संस्थान है जो समाज के नैतिक उत्थान के लिये प्रयासरत है संस्था का अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय राजस्थान माउन्ट आबू में स्थित है जिसकी मुख्य प्रशासिका 103 वर्षीया आदरणीय राजयोगिनी दादी जानकी जी है।  इसके पश्चात जबलपुर से पधारे मीडिया प्रभाग के सदस्य भ्राता पवन पाण्डे जी ने मीडिया प्रभाग का उददेश्य स्पष्ट किया। 
ब्र.कु. साधना बहन द्वारा पत्रकारों को राजयोग की अनुभूति कराई गई। अतिथियों के स्वागत में कुमारी राधा द्वारा स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया गया। अंत में सभी पत्रकारों बन्धुओं को प्रोफेसर भ्राता कमल दीक्षित जी एवं मुख्य संचालिका ब्रम्हाकुमारी कुसुम बहन जी ने ईश्वरीय सौगात दी तथा सभी ने ब्रम्हा भोजन स्वीकार किया ।
Previous articleBrahma Kumaris’ Flood Relief Services in Assam
Next articleMayor and Councillor of Croydon, UK Congratulate BK Shivani