Convocation by Value Education Department at Brahmakumaris H.Q.

92

Abu Road: On one side many youth are adopting to addiction but on the other side the number of those inclined towards inculcation of values is also increasing rapidly. The sample of such youth was seen at the convocation of successful candidates of M. Sc. In value education through Yashwant Rao Chwahan Open University, held at conference hall, Brahmakumaris, Shantivan.

On this occasion, Mr. Umesh Rajderkar, Director, Yashwant Rao Chwahan Open University appreciated the initiative of Brahmakumaris Institution and said that such efforts are required in all the universities, because it encourages the youth to adopt values in their lives. Dadi Ratan Mohini, Joint Chief Administrator of Brahma Kumaris said that climax of values has already been shown by God, which we have lost with the passage of time and it has to be re-established through His guidance.

B K Nirwair, Chairman Education Wing said that the Department is working for the last 25 years, but during past 5 years the way youth have joined us through such programs it is a good sign. We should continue the effort in all the schools and colleges.

Mr. M. Arul, Director Annamalai University said that our university is the first to introduce such educational courses in association with Brahma Kumaris Institution. He was pleased to inform that it has encouraged many youths to adopt values. Organisers BK Mruthyunjay, Dr. RP Gupta, BK Kiran, Dr. Harish Shukla and Director Pandiamani also expressed their views on this occasion.

The students decorated in their convocation gowns marched to the conference hall where they were honoured with certificates.

युवाओं में बढ़ रहा मूल्यों के प्रति रूझान, कन्वोकेशन में उमड़ा युवाओं का उत्साह

आबू रोड, 29 जनवरी, निसं। जहॉ युवाओं में तेजी से नशे की प्रवृत्ति बढ़ रही है। वहीं कुछ ऐसे युवाओं की तादाद भी बढ़ती जा रही है जिनमें मूल्यों के प्रति तेजी से रूझान बढ़ रहा है। इसकी बानगी ब्रह्माकुमारीज संस्था के शिक्षा प्रभाग और अन्नामलाई के बाद यशवन्त राव चौहान खुला विश्वविद्यालय के साथ चल रहे मूल्यों में एमएसी पाठयक्रम में उत्तीण युवाओं के कन्वोकेशन में देखने को मिला। ब्रह्माकुमारीज संस्था के शांतिवन कान्फ्रेन्स हॉल में दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया

 इस समारोह में यशवन्त राव चौहान खुला विश्वविद्यालय के निदेशक उमेश राजदेरकर ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज संस्थान की अच्छी पहल है। इससे युवाओं में तेजी से रूझान बढ़ा है। इससे युवाओं में मूल्यों को आत्मसात करने में मदद मिलेगी। इस तरह के प्रयास की आज सभी विश्वविद्यालयों में जरूरत है। ब्रह्माकुमारीज संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि मूल्यों की पराकाष्ठा पहले से ही परमात्मा ने हमें दी है परन्तु कालान्तर में हमने इसे खो दिया है। इसलिए अब पुन: इससे अपनाने की जरूरत है। जो परमात्मा यह मार्गदर्शन कर रहे हैं। शिक्षा प्रभाग के अध्यक्ष बीके निर्वेर ने कहा कि पिछले पच्चीस वर्षो से शिक्षा प्रभाग का आयोजन हो रहा है परन्तु चार पांच साल से जिस तरह से पाठक्रमों के जरिए युवा तेजी से जुड़ रहे है यह हमारे लिए अच्छी खबर है। इस तरह का प्रयास हमें सभी स्कूलों एवं कालेजों में करने का प्रयास करना चाहिए।

अन्नामलाई विश्वविद्यालय के निदेशक एम अरूल ने कहा कि अन्नामलाई पहला विश्वविद्यालय है जिसने मूल्यों को लेकर ब्रह्माकुमारीज संस्था के शिक्षा प्रभाग द्वारा बनाये गये पाठयक्रम को लागू किया। यह बताने में मुझे प्रसन्नता हो रही है कि इससे बड़ी संख्या में युवा भागीदार बन रहे हैं। कार्यक्रम के आयोजक बीके मृत्युंजय, डॉ. आरपी गुप्ता, बीके किरन, प्रभाग के राष्ट्रीय संयोजक डॉ हरीश शुक्ला, निदेशक पांडयामंनी ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये।

निकाला मार्च: दीक्षांत समारोह में वस्त्रों में सजे विद्यार्थियों ने मार्च निकालकर कांन्फ्रेस हॉल तक पहुंचे। जहॉं उन्हें सर्टिफिकेट भेंटकर सम्मानित किया गया।

फोटो, 29 एबीआरओपी, 1, 2, 3, 4 कन्वाकेेशन में उपस्थित लोग, सम्बोधित करते अतिथि।