Dadi Janki’s Memorial “Shakti Stambh” To Be Inaugurated On Her 1st Ascension Anniversary

73

Mount Abu, India: Her Holiness Rajyogini Dadi Janki’s Memorial “Shakti Stambh” – Tower of Might” is ready for the public to pay tribute on Her 1st Ascension Anniversary. 

On Saturday 27th March, the Former Chief of Brahma Kumaris Dadi Janki’s Memorial will be inaugurated. Due to the current covid situation and government restrictions imposed, the seniors of the Headquarters campus will be participating in the programme. For the rest of the Global family, the event is being aired LIVE on TV Channel and other social platforms,
Sharing here the LINK for the LIVE transmission. Separate links for Hindi and English commentaries and translations. 
27th March – 8 am: Inauguration of Shakti Stambh, 9 am to 11 am: Experiences with Dadi Janki.
Dadi Janki Shakti Stambh (Hindi Link): 
Dadi Janki Memorial (English Link): 
News in Hindi:
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की पूर्व मुख्य प्रशासिका, राजयोगिनी दादी जानकीजी की याद में स्मृति स्थल ‘शक्ति स्तंभ’ बनकर तैयार हो गया। दादीजी की प्रथम पुण्यतिथि पर इसे योग-साधना के लिए समर्पित कर दिया जाएगा।
दादी जानकीजी की प्रथम पुण्यतिथि 27 मार्च को वैश्विक आध्यात्मिक जागृति दिवस के रूप में संस्थान के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय शांतिवन सहित विश्वभर के सेवाकेंद्रों पर मनाई जाएगी। बता दें कि 27 मार्च 2020 को राजयोगिनी दादी जानकी नश्वर देह त्यागकर अव्यक्त हो गईं थीं।
दादी जानकीजी की याद में बने शक्ति स्तंभ पर दादीजी की जीवन यात्रा को चित्रों के माध्यम से दर्शाया गया है। साथ ही दादीजी के जीवन चरित्र, उनके महान वाक्यों, प्रेरणाओं को अंकित किया गया  है। दादीजी सदा कहती थी… सदा याद रखें मैं कौन (आत्मा) और मेरा कौन (परमात्मा)। अर्थात् मैं आत्मा, परमात्मा की संतान हूं और इस सृष्टि रूपी रंगमंच पर अपना पार्ट बजा रही हूं। करनकरावनहार करा रहा है। मैं तो निमित्त मात्र हूं। दादीजी के जीवन का मूलमंत्र था- सच्चाई, सफाई और सादगी।
शक्ति स्तंभ को विशेष मार्बल के पत्थरों से बनाया गया है, जिसके गुंबज में कमल की पंखुडिय़ों के समान आकृति बनाई गई है।