Dedication Ceremony of Brahma Kumari Sisters in Gurugram

14

Gurugram (HR): The dedication ceremony of ten Brahma Kumari sisters into Godly service was celebrated with great gaiety and grandeur at Om Shanti Retreat Center (ORC), near Gurugram. The Addl. Chief of the Brahma Kumaris, Dadi Ratanmohini presided over this function.

Giving her blessings and best wishes to divine sisters, Dadi Ratanmohini said that dedicating one’s self to the Supreme God Father is an extraordinary happening in human life. In the present times, when most people are lost in indulging in sensual pleasures, it is very fortunate to be able to walk on the spiritual path. She made everyone pledge to walk on this path with unwavering devotion, to always honor the spiritual guidelines, and inspire others with the example of one’s life.

Sister BK Asha, Director of ORC; BK Brij Mohan, Additional Secretary General of the Brahma Kumaris, Delhi; BK Vedanti, Regional Director of African Countries, BK Chakradhari, Regional Director of Russian and Baltic Countries, BK Geeta, Director, ORC and BK Shukla, Director, ORC also extended their greetings to the sisters.

Many from the Brahma Kumaris fraternity all over the world attended the ceremony. The families and relatives of the sisters dedicating themselves also attended the function.

The two-day festivities saw the sisters pledging to devote their entire lives in the service of the humanity.

The program saw rendering of divine songs by Brajesh Mishra and beautiful dance sequences.

Hindi News

बड़ी धूमधाम से मनाया गया दिव्य अलौकिक समर्पण समारोह

ब्रह्माकुमारीज़ के भोड़ाकलां स्थित ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर में दिव्य अलौकिक समर्पण समारोह बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया। दो दिवसीय समर्पण समारोह कार्यक्रम में १० ब्रह्माकुमारी बहनों ने अपने सम्पूर्ण  जीवन को ईश्वरीय सेवाओं में समर्पित करने का दृढ़ संकल्प किया। इस अवसर पर विशेष रूप से संस्था की अतिरिक्त  प्रशासिका दादी रतनमोहिनी भी उपस्थित रही।

दादी जी ने अपनी शुभ प्रेरणाएं व्यक्त करते हुए कहा कि अपने जीवन को परमात्मा की सेवा में समर्पित करना बहुत बड़ी महानता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय जहाँ एक ओर मानव भौतिक आकर्षणों में फँसता ही जा रहा है, वहीं दूसरी ओर आध्यात्मिकता के श्रेष्ठ मार्ग पर चलना अर्थात सौभाग्यशाली बनना। उन्होंने कहा कि वो मात-पिता बहुत भाग्यशाली हैं जिन्होंने ऐसे बच्चों को जन्म दिया। दादी जी ने सभी को दृढ़ संकल्प कराया कि सदा इस मार्ग पर अचल-अडोल रहेंगे। सदैव ईश्वरीय मर्यादाओं का पालन करेंगे और दूसरों को भी अपने जीवन से प्रेरणा देंगे।

कार्यक्रम में संगीत संध्या का भी आयोजन हुआ। गायक ब्रजेश मिश्रा ने ईश्वरीय प्रेम के सुन्दर गीतों द्वारा सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। साथ ही नृत्य एवं नाटक के द्वारा भी सबका मनोरंजन हुआ।

कार्यक्रम में ओआरसी की निदेशिका बी.के. आशा, संस्था के अतिरिक्त सचिव बी.के.बृजमोहन, बी.के. वेदान्ती, बी.के. चक्रधारी, बी.के. गीता, बी.के. शुक्ला सहित अनेक वरिष्ठ एवं अनुभवी वक्ताओं ने अपनी शुभ कामनाएं व्यक्त  की। कार्यक्रम में देश-विदेश से संस्था के अनेक वरिष्ठ भाई-बहनों ने भी शिरकत की। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी बहनों के माता-पिता एवं सम्बन्धियों सहित काफी संख्या लोग उपस्थित थे।