Media Seminar in Khandwa (MP) Organised by BK Media Wing

81

Media Seminar in Khandwa (MP) Organised by BK Media Wing

Khandwa, 3rd Feb : Media Seminar on ‘Values and Challenges Before Media’ was addressed  by Prof. Kamal Dixit, National Convener of Society of Media Initiative for Values and Editor, Rajikhushi Magazine, Bhopal, Mr. Rajiv Jain, Resident Editor, Rajasthan Patrika, Khandwa, BK Shakti, Incharge, Brahma Kumaris Centres, Khandwa, BK Anita, Media Coordinator, Media Wing, Indore; BK Hemlata, Chief Coordinator, Brahma Kumaris, Indore Zone, Mr. Kamlesh Pare, Media Analysts and Thinker, Bhopal. Mr. Uday Mandloi, Bureau Chief, Nai Duniya, Khandwa, Dr. Somnath Vadnere, Guest Faculty, Dept. of Journalism, North Maharastra University, Jalgaon, Mr. Pushpendra Sahu, Desk Incharge, Rajasthan Patrika, Khandwa, BK Astha behen, Rajyoga Teacher, Indore and BK Santosh Behen.

The speakers were stressed on how media persons continue to face challenges that have eroding the freedom of press. To overcome the challenges the journalists should practise spiritual values, meditation and positive life style.

Journalists of print, electronic, cyber and promotional media from Khandwa district (MP) participated.

खंडवा में ‘मीडिया के समक्ष मूल्य व चुनौतियां’ विषय पर मीडिया संगोष्ठी का आयोजन

 जिलेभर से प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, सायबर मीडिया के पत्रकारों, प्रतिनिधियों और संवाददाताओं ने भाग लिया

खंडवा: मीडिया की कलम चाहे तो निर्माण कर सकती है, चाहे तो विध्वंस। मीडिया समाज का वह प्रहरी है जो खुद जागरूक रहकर दूसरों को भी जागरूक करता है। चाहे सब सो जाएं, लेकिन वह सबको जगाता रहता है। एक मूल्यवान व्यक्ति लाखों लोगों के बराबर होता है। क्योंकि अच्छाई थोड़ी होती हुए भी ज्यादा शक्तिशाली होती है। यदि हम जीवन में किसी मूल्य को लेकर आगे बढ़ते हैं तो बाधाएं तो आएंगी, लेकिन उनको पार करते हुए अपने लक्ष्य तक पहुंचना होगा। यही मूल्यनिष्ठ व्यक्ति की निशानी है।

उक्त उद्गार इंदौर जोन की मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी हेमलता दीदीजी ने व्यक्त किए। मौका था मीडियाकर्मियों के लिए ‘मीडिया के समक्ष मूल्य व चुनौतियां विषय पर प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के भाग्योदय भवन सेवाकेंद्र पर आयोजित मीडिया संगोष्ठी का। इसमें जिलेभर से प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, सायबर मीडिया के पत्रकारों, प्रतिनिधियों और संवाददाताओं ने भाग लिया।

मूल्यों को लेकर आगे बढ़ेंगे तो जीत निश्चित

बीके हेमलता दीदी ने कहा कि पांडव संख्या में बहुत थोड़े थे, इसके बाद भी उनकी जीत हुई। जबकि कौरव हजारों की संख्या में होने के बाद भी हार गए। पांडवों की जीत के पीछे उनकी सत्यता और मूल्यनिष्ठता थी। यही बात हमारे जीवन में भी लागू होती है। यदि हम मूल्यों को जीवन में धारण कारण आगे बढ़ते हैं तो हमारी भी जीत निश्चित है। उन्होंने कहा कि ये जरूरी नहीं कि हम भेड़चाल चलते जाएं। मेडिटेशन से हमें आंतरिक शक्ति मिलती है और इससे ही हम बाहरी चुनौतियों का सामना कर सकते हैं। आपको दीपक बनना है जो आंधी-तूफान में जलता रहा। वर्ष 1936 में संस्था के संस्थापक प्रजापिता ब्रह्मा बाबा ने जब इस महायज्ञ की नींव रखी तो उनके सामने भी कई समस्याएं आईं। लोगों ने विरोध किया, लेकिन उन्होंने परमात्मा के कार्य को आगे बढ़ाते हुए तमाम बाधाओं को दूर करते हुए ओम मंडली की नींव रखी। उन्होंने कभी भी मूल्यों से समझौता नहीं किया, इसलिए सदा धरत परिए, धर्म न छोडि़ए।

आध्यात्म में है जोखिम उठाने की शक्ति

मूल्यानुगत मीडिया व राजी-खुशी के संपादक, वरिष्ठ पत्रकार कमल दीक्षित ने ‘मीडिया के समक्ष मूल्य व चुनौतियां’ विषय पर संबोधित करते हुए कहा कि पत्रकार में हर तरह का जोखिम उठाने की ताकत होती है। हम मूल्यों को लेकर पत्रकारिता करते हैं तो इससे समाज को एक नई दिशा मिलती है। आज भी लोग अखबार पढ़कर अपनी विचारधारा बनाते हैं। समाज आज भी पत्रकारिता और अखबारों में छपी खबर को सच मानता है। इसलिए हमेशा तथ्यपरक, सही और सत्यता के साथ पाठकों तक जानकारी पहुंचानी चाहिए। आज भी पत्रकारिता में कई ऐसे पुरोधा हैं जिन्होंने तमाम विपरीत परिस्थितियों का सामना किया, यहां तक कि नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा लेकिन अपने मूल्यों से समझौता नहीं किया। सही मायनों में ईश्वर और आध्यात्मिकता के बिना आप जोखिम नहीं उठा सकते हैं। आध्यात्म का सहारा लेना पड़ेगा।

पत्रकारों का सबसे अधिक दायित्व

भोपाल से आए वरिष्ठ मीडिया विश्लेषक और चिंतक कमलेश पारे ने कहा कि आज प्रत्येक क्षेत्र में मूल्यों का संकट आ गया है। विश्वसनीयता मूल्यों के संकट में सबसे बड़ा हथियार है। इस दौरान उत्तर महाराष्ट्र विवि, जलगांव के व्याख्याता डॉ. सोमनाथ बडऩेरे ने कहा कि एक पत्रकार हजारों लोगों को राह दिखाता है इसलिए आप सभी का दायित्व समाज के प्रति सबसे अधिक है। अत: संगोष्ठी में जिन बातों पर मंथन किया गया उन पर अमल करने का प्रयास करें।

आज मीडिया की विश्वसनीयता संकट में

पत्रिका के स्थानीय संपादक राजीव जैन ने कहा कि आज पूरे मीडया की विश्वनीयता संकट में है। कोई चैनल एक घटना को कुछ तरह चलाता है तो दूसरा चैनल दूसरे अंदाज में चलाता है। इससे दर्शकों के मन में मीडिया के प्रति अविश्वनीयता पैदा हो रही है। समाज के प्रति हमारा दायित्व है कि पाठकों और दर्शकों की विश्वनीयता बनाए रखना। आज भी देश में कई अखबार मूल्यों को लेकर पत्रकारिता कर रहे हैं। प्रतिस्पद्र्धा के इस दौर में आज भी खबरों से कोई समझौता नहीं करते हैं। स्मार्ट फोन आने से हर व्यक्ति पत्रकार बन गया है।

मीडियाकर्मियों को कराया राजयोग का अभ्यास

नई दुनिया के ब्यूरो चीफ उदय मंडलोई ने कहा कि खंडवा का मीडिया पूरे देश में खबर के लिए जाना जाता है। तमाम चुनौतियों के बाद भी मैंने अपने जीवन में कभी भी मूल्यों से समझौता नहीं किया। इस संगोष्ठी में मूल्यों को लेकर जो भी चर्चा हुई। उन बातों को हम आगे भी बढ़ाते रहेंगे। इंदौर से पधारीं बीके आस्था ने संगोष्ठी में उपस्थित सभी मीडियोकर्मियों को राजयोग मीडिटेशन का अभ्यास कराया। साथ ही सभी को संक्षेप में राजयोग की विधि बताई। बीके संतोष दीदी ने संस्था और मीडिया विंग का परिचय देते हुए मीडया विंग द्वारा देश-विदेश में की जा रही सेवाओं के बारे में बताया।

सेवाकेंद्र संचालिका बीके शक्ति दीदी ने कहा कि आप सभी जितने सशक्त होंगे, समाज भी उतना ही सशक्त और मजबूत होगा। एक पत्रकार हजारों लोगों को राह दिखाता है। इंदौर जोन की मीडिया समन्वयक बीके अनीता दीदी ने संचालन करते हुए संस्था द्वारा की जा रही सेवाओं के बारे में विस्तार से बताया। स्वागत बीके प्रगति बहन व बीके सुशीला बहन ने किया। समापन पर पत्रिका के डेस्क इंचार्ज पुष्पेन्द्र साहू ने मीडिया में मूल्यों को जागृत करने की इस मशाल में जलाए रखने का संकल्प लेते हुए सभी का आभार माना।

Download : News