Acharya Devvrat, Honourable Governor of Himachal Pradesh Inaugurates Scientists & Engineers Conference

380

Shimla : Acharya Devvrat, Honourable Governor of Himachal Pradesh  inspired everyone in his inaugural speech after lighting a candle to lead ever happy life by surrendering yourself to Supreme Power God, by having the company of Great persons, by helping poor people. To remain happy life avoid six – 1. Jealousy 2. Hatredness. 3 Dissatisfaction  4. Anger 5.Doubtful nature and 6. Dependencies

Bro. Mohan Shinghal, Vice-chairperson of SEW, Mount Abu welcomed H.E. and every one by explaining scientific explanation of spiritual knowledge. He. also explained that about 150 engineers and scientists participated from all over India in this seminar. 

Bro. Bharat Bhushan. National Coordinator SEW, Panipat explained the 4 tips of Khushnuma Jindgi in his  Keynote address which are Positive Attitude, Appreciate everyone, earn the blessings  & Practise Meditation. 

BK Luxmi from, Kapurthala conducted Meditation. BK Jyoti, Hamirpur presented Shawl to Governor and lady Governor. BK Aruna, circle Incharge, Shimla presented Godly Gift to Governor & Lady Governor. BK Jyoti, Panipat conducted the stage. 500 People Participated in this seminar.

Hindi News:

महमहिम आचार्य देवव्रत, हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल ने किया खुशनुमा जिंदगी पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन

पर्वतीय  राजघानी शिमला स्थित ब्रह्माकुमारीज़ सेवाकेंद्र के सभागार में विज्ञान एवम तकनीकी प्रभाग के और से आयोजित खुशनुमा जिंदगी पर नेशनल सेमिनार का उद्घाटन महामहिम आचार्य देवव्रत, राज्यपाल हिमाचल प्रदेश एवम बहिन दर्शना देवी, लेडी गर्वनर ने आपने कर कमलो से दीप प्रज्जवलन करके किया।  उन्होंने अपने  उद्घाटन भाषण में कहा खुशनुमा जिंदगी के लिए अपने जीवन को ईश्वर के प्रति समर्पित करे, अच्छों से दोस्ती करे एवम दीन असहाय पर दया करें। सदा सुखी रहने के लिए छः चीजों से दुर रहे वे है ईर्ष्या, घृणा, क्रोध, शक्की स्वभाव, एवं परआश्रित जीवन।  

भ्राता मोहन सिंघल, उपाघ्यक्ष, विज्ञान एवं तकनीकी प्रभाग, माउंट आबू ने राज्यपाल महोदय एवं सभी का ह्रदय से अभिनन्दन किया तथा खुशनुमा जिंदगी के लिए आध्यात्मिक ज्ञान का वैज्ञानिक स्पष्टीकरण किया उन्होने यह भी बताया कि पुरे राष्ट्र भर से लगभग 150 इंजीनियरों एवं वैज्ञानिकों ने भाग लिया। भ्राता भरता भूषण, नेशनल कोऑर्डिनेटर , विज्ञान एवं तकनीकी प्रभाग, ने  खुशनुमा जिंदगी जीने के 4 सूत्र बताए, सकारात्मक सोच, हरेक के प्रशंसा करे, निस्वार्थ सेवा कर दुआए कमाए एवं राजयोग का अभ्यास करे.

बी. के. लक्ष्मी, कपूरथला ने राजयोग का अभ्यास कराया। बी. के. ज्योति, हमीरपुर ने राज्यपाल महोदय को शाल ओढ़ा कर अभिनन्दन किया. बी. के. अरुणा, सर्कल इंचार्ज, शिमला ने ईश्वरीय उपहार भेंट कर गर्वनर एवं लेडी गर्वनर का अभिवादन किया। बी. के. ज्योति, पानीपत ने सफल मंच संचालन किया। इस राष्टीय संगोष्ठी में लगभग 500 लोगों ने भाग लिया.