Program on World Day of Remembrance for Road Traffic Victims in Indore

606

Indore (MP): Travel and Transport Wing of RERF, in collaboration with Brahma Kumaris Indore, held an online Webinar to mark World Day of Remembrance for Road Traffic Victims.  The topic of the webinar was ‘ Comfortable and Secure Travel‘. The aim of this program was to give peace to those who lost their lives in road traffic accidents and mental rehabilitation of those injured.

BK Divyaprabha, National Coordinator of Travel and Transport Wing from Mumbai, said that travel is a basic necessity of man, and everyone aims to travel on time comfortably.  But travel accidents and deaths are sudden upheavals in people’s lives.  Today, despite proper roads and advanced vehicles,  lakhs of people die due to road accidents daily throughout the world. Of these, 90% are caused due to human error and only 10% have other causes. Biggest problem is lack of awareness about road safety measures.  To avoid these accidents,  change in people’s mental tendencies is a must.  The habit of being on the road in a hurry due to mental stress and trying to get ahead of others needs to be curbed. If we drive with a peaceful mind, having concern for other passengers, we will have a safe and pleasant journey.  Parents should impart good driving principles along with vehicles to their children.  This will produce safe and successful drivers.

Mr. Mukul Chaudhary, Head of Group Training Academy,  Skoda Volkswagen Private Limited India in Pune, explained through a power point presentation which things to remember while driving on the road. For long drives, take rest periodically and listen to soothing music.  Care for your vehicle in addition to your own self.

BK Hemlata,  Incharge of Indore Zone of Brahma Kumaris, said that if the driver doesn’t have control over his mind, he cannot have control on his vehicle.  To avoid stress, make God your companion and avoid all substance abuse.  Rajyoga Meditation calms the mind and increases concentration. Having good moral values makes the journey of life easy.

Mr. Santosh Upadhyaksh, Traffic DSP Indore, while explaining traffic rules said that these must be followed strictly.  Never drive two wheelers without a helmet, don’t use mobile phone while driving and avoid speeding.

Mr. Dilip Singh Parihar, Incharge of Traffic Police Station,  made everyone pledge to follow traffic rules. Mr. Kailash Baheti, Director Rukmini Motors and Mr. Ramesh Anand, Dealer Nissan Volkswagen Automobiles Indore, also gave their good wishes.

A short Rajyoga Meditation Session with commentary for the peace of victims of road accidents and mental rehabilitation of their families, was held. A tribute was also paid to the victims by lighting lamps. BK Anita coordinated this program.


News in Hindi:


सड़क दुर्घटनाओं में मृतकों को आत्मिक  शांति देने मनाया विश्व यादगार दिवस 90 प्रतिशत सड़क दुर्घटना मानवीय भूलों के कारण होती

इंदौर 23 नवम्बर ।  यातायात एवं परिवहन हरेक मनुष्य के जीवन की अनिवार्य आवश्यकता है, सभी का लक्ष्य होता है कि हम सही समय पर आराम से अपने गन्तव्य तक पहुंच जायें, लेकिन अचानक रोड़ एक्सीडेंट में घायल हो जाता या मृत्यु का शिकार हो जाना यह जीवन की बहुत बड़ी विड़म्बना है। वर्तमान समय अच्छी सड़के, अच्छे वाहन होने के बाद भी रोड़ एक्सीडेंट दिनों दिन बढ रहे हैं जिससे पूरे विश्व में प्रतिदिन लाखों लोगों की मौत हो जाताी है या शारीरिक रुप से क्षतिग्रस्त हो जाते हैं इन दुर्घटनाओं का 90 प्रतिशत कारण मानवीय भूल 10 प्रतिशत अन्य कारण से होता है।  जिसमें सबसे बड़ी भूल सड़क सुरक्षा के नियमों के प्रति जागृत ना होना है। इन दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिये मानवीय प्रवृत्ति को बदलना अति आवश्यक है। सड़क पर मानसिक तनाव की स्थिति में अशांत मन से जल्दबाजी में एक दूसरे से आगे जाने की होड में ट्रेफिक नियमों को अनदेखा कर गाड़ी चलायेंगे तो निष्चित ही दुर्घटना का शिकार होंगे। अतः अपने अमूल्य जीवन की रक्षा के लिये सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए। शंात मन से वाहन चलाये अपने सहयात्रियों प्रति सद्भाव रखें तो यात्रा सुखद और आसान होगी । माता पिता अपने बच्चों को अच्छी बाईक, अच्छे कार के साथ साथ संस्कार भी देंवे तो जीवन रुपी यात्रा में भी सफलता प्राप्त होगी।

उक्त विचार ब्रह्माकुमारीज के यातायात एवं परिवहन प्रभाग द्वारा  “ सुखद एवं सुरक्षित यात्रा “  विषय पर आयोजित आॅनलाईन वेबिनार में प्रभाग की राष्ट्रीय उपाध्यक्षा ब्रह्माकुमारी दिव्यप्रभा -मुंबई ने उच्चारे कल संध्या 6 बजे ज्ञानशिखर ओमशान्ति भवन में सड़क दुर्घटना में शरीर छोड़ने वालों की आत्मिक शांति एवं घायलों को मानसिक संबल देने के लिये “विश्व यादगार दिवस“ मनाया गया।

ग्रुप ट्रेनिंग अकादमी स्कोडा आॅटो वोक्सवेगन प्रा. लि. इंडिया के अध्यक्ष भ्राता मुकुल चैधरी, पुंणे ने पावर पाईंट प्रेजेण्टेशन के द्वारा बताया कि सड़क पर वाहन चलाते समय किन किन बातों का ध्यान रखें। लंबे समय तक गाड़ी चलानी है तो बीच बीच में शरीर को आराम दे तथा मन को श्ंाात रखने के लिये अच्छे गीत म्युजिक आदि सुनें। स्वयं के साथ साथ अपने वाहन से भी प्यार करें। सकारात्मक नजरिया रख गुड फीलिंग के साथ सबकी शुभ भावना और शुभ कामना लेकर चले तो यात्रा आसान हो जायेगा।

इस अवसर पर इंदौर जोन की मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक ब्रह्माकुमारी हेमलता दीदी ने कहा कि वाहन चालक कितना भी शिक्षित और प्रतिशिक्षित क्यों न हो यदि उसका मन पर नियन्त्रण नहीं है तो गाड़ी की स्टियरिंग पर भी नियन्त्रण होना असंभव है। जिस प्रकार यात्रा में आवश्यक सामान ही लेकर चलते हैं उसी प्रकार मन के आवश्यक बोझ तनाव, चिंता, परेशानी सब ईश्वर पिता को सौंप दे। उन्हें अपना साथी बनावें। तनाव से बचने के लिये शराब व्यसन आदि का सेवन न करें। आपने बताया कि राजयोग मेडिटेशन द्वारा सब व्यसनों से मुक्त होकर मन की एकाग्रता बढती है जिससे हमारी कार्यक्षमता में वृद्धि होती है।  जिस प्रकार हम अपनी सुरक्षा के लिए नियमों का पालन करते हुए रोड़ पर चलते हैं, उसी प्रकार जीवन यात्रा में नैतिक मूल्यों को साथ लेकर चलें तो जीवन यात्रा भी आसान हो जायेगा।

इंदौर के ट्रेफिक ड़ी. एस. पी. संतोष उपाध्यक्ष ने कहा कि रोड़ पर दो पहिया वाहन और चार पहिया वाहन चलाने के जितनेे नियम हैं उसकी जानकारी होना आवष्यक है आपने दो पहिया और चार पहिया वाहन चलाने हेतु बने नियमों की जानकारी देते हुए कहा कि इन नियमों का गंभीरता से पालन करेंगे तो एक्सीडेन्ट से बचे रहंेगे। बिना हेलमेट पहने दो पहिया वाहन चलाना, मोबाईल फोन पर बातें करते हुए वाहन चलायेंगे, तेज गति से वाहन चलायेंगे तो रोड़ एक्सीडेन्ट अवश्य होगा।

 ट्रेफिक थाना प्रभारी दिलीप सिंह परिहार ने नियमों का पालन करने की शपथ दिलाई। कैलाश बाहेती संचालक रुकमणी मोटर्स एवं रमेश आनंद – डीलर निशान, फाॅक्सवेगन आॅटो मोबाईल इंदौर ने अपनी शुभकामनायें दी। राजयोग की विशेष कमेन्ट्री द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल लोगों को एवं शोक संतप्त परिवारों को मानसिक संबल देते हुए शांति के प्रकम्पन फैलाये तथा मृत आत्माओं की  शांति के लिये दीप जलाकर श्रद्धांजली दी गई। कार्यक्रम का संचालन ब्रह्माकुमारी अनिता ने दिया।

Previous articleWaving Shiv Baba’s Flag on Top of Mount Everest Summit
Next articleBK Shivani Behen Article in Dainik Bhaskar Newspaper all India editions 23-11-2020