21 BK sisters pledge to dedicate their lives in service of humanity

189

Jaipur (Raj): The Brahma Kumaris of Rajapark Jaipur held a grand Dedication Ceremony for 21 Brahma Kumari sisters.  The event was held at Entertainment Paradise, Jawahar Circle in Jaipur.  These 21 BK sisters dedicated themselves fully to Godly services on this occasion.  BK Poonam, In-charge of the Brahma Kumaris Jaipur Subzone, and BK Nirmala, In-charge of Kamal Brahma Kumaris, presided over this function.

Dr. Archana Sharma, Head of the Rajasthan Public Welfare Board, while speaking on this occasion,  said that those who follow the spiritual path, deviate from worldly confusions. The white clothes worn by the Brahma Kumaris sisters earn them great confidence amongst the people.

Rajyogini BK Chakradhari,  In-charge of Brahma Kumaris in Shakti Nagar Subzone and Russia Director of Brahma Kumaris,  said that these BK sisters are given 5 years of training prior to holding this Dedication Ceremony.  During this period, their willingness, determination, and capability to walk the spiritual path is judged by the Organization.  It is a great work to dedicate one’s life to making Bharat the World Teacher again.

BK Poonam,  In-charge of the Jaipur Subzone of Brahma Kumaris,  said that these Brahma Kumaris sisters are following supreme spiritual practices and the teachings of Brahma Kumaris since childhood.  This ceremony is like a divine marriage ceremony.

BK Nirmala,  In-charge of the Kamal service center,  special guests, BK Phool, In-charge of Jodhpur Brahma Kumaris, and BK Sheel also expressed their good wishes.

The families of these BK sisters also witnessed this ceremony.  More then 7,000 people attended this program.  The 21 BK sisters pledged to dedicate their lives in service of humanity.  BK Yugratan from Mount Abu presented spiritual songs. Swaroop Panwar, International Artist from Barmer, and other youth artists presented songs and dance performances.

News in Hindi:

त्याग, तपस्या और निस्वार्थ सेवा से सृष्टि में परिवर्तन की दिशा में किस तरह कार्य किया जा सकता है इसकी अनूठा उदाहरण 01 जनवरी 2023 को प्रत्यक्ष रूप में संपन्न हुआ।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय राजापार्क जयपुर सबजोन की ओर से 21 कन्याओं का समर्पण समारोह ब्रह्माकुमारी राजयोगिनी पूनम दीदी जी जयपुर सब जोन इंचार्ज व ब्रह्माकुमारी राजयोगिनी निर्मला दीदी जी कमल सेवाकेंद्र इंचार्ज के पावन सानिध्य में दिनांक 01 जनवरी 2023 प्रातः 9:30 बजे से एंटरटेनमेंट पैराडाइज, जवाहर सर्किल जयपुर में आयोजित अलौकिक समर्पण समारोह में उमंग-उल्लास के साथ 21 ब्रह्माकुमारी बहनों ने अपना जीवन समाज के लिए समर्पण करने की प्रतिज्ञा ली।

राज्य मंत्री, राजस्थान समाज कल्याण विभाग की अध्यक्षा डॉ अर्चना शर्मा जी ने कहा की जो अध्यात्म से जुड़ते है वह सांसारिक जीवन की दुविधाओं से बाहर हो जाते है राजनीति में नेता भी सफ़ेद कपड़े पहनते है लेकिन आप जो सफ़ेद वस्त्र धारण करते है उनमे और आप में बहुत अंतर है और यही कारण है आपकी विश्वसनीयता इस सांसारिक जीवन में बहुत बड़ी है |

दिल्ली शक्ति नगर सब जोन इंचार्ज एवं रशिया डायरेक्टर ब्रह्माकुमारी राजयोगिनी चक्रधारी दीदी ने कहा की बहनों को इस समर्पण समारोह से पूर्व 5 वर्ष ट्रेनिंग के लिए दिए जाते हैं ताकि वे देख सके कि हम इस मार्ग पर चल सकते हैं तथा सेवाकेंद्र की बहने भी देख सके कि बहने इस मार्ग पर चल सकती है और इनका अलौकिक परिवार भी देख सकें कि यह मार्ग पर सफल हो पाएगी जब सब की तरफ से यह सर्टिफिकेट मिलता है कि सफल होंगे तभी इनका समर्पण समारोह किया जाता है आज भारत की प्राचीन संस्कृति जो भारत को एक विश्व गुरु कहलाता था आज उस प्राचीन संस्कृति को उन्हें इस विश्व में लाने के लिए हम बहनों ने अपने जीवन का त्याग किया है और इस देश को श्रेष्ठ बनाने के लिए विकारों रुपी दुर्गुणों से स्वयं मुक्त कर अनेकों को मुक्ति प्रदान प्राप्त कराने के लिए अगर हमने अपना जीवन प्रभु अर्पित किया है तो यह बहुत बड़ा कार्य है |

जयपुर सब जोन प्रभारी राजयोगिनी बीके पूनम दीदी ने बताया कि बाल अवस्था में कन्याएं श्रेष्ठ संस्कारों से युक्त होकर ब्रह्माकुमारी की शिक्षाओं का पालन कर रही है। यह ब्रह्माकुमारी बहने अपनी शिक्षा पूर्ण कर ईश्वरीय विश्व विद्यालय के नियमों के पालन करते हुए माता-पिता की स्वीकृति प्राप्त कर समाज कल्याण के लिए अथक रूप से अपना योगदान दे रही है। यह अलौकिक समर्पण समारोह एक तरह से अलौकिक विवाह की तरह होता है जिसमे परमपिता परमात्मा शिव को साक्षी मानकर ब्रह्माकुमारी बहने अपना जीवन भगवान शिव को अर्पित करती है।

कमल सेवाकेंद्र इंचार्ज बीके निर्मला दीदी, सम्माननीय अतिथि जोधपुर सेवाकेंद्र इंचार्ज बी के फूल एवं जोधपुर सेवाकेंद्र इंचार्ज बीके शील ने अपनी शुभकामनाएं अर्पित की। देश के विभिन्न वर्गों से जुड़े लोगों के साथ- साथ सभी कुमारियों के परिवार जन आयोजन के साक्षी बनें। करीब 7000 से ज्यादा लोग समारोह में शामिल हुए। 21 समर्पित ब्रह्माकुमारी बहनों  ने अपने माता पिता के साथ जन कल्याण की सेवाओं में अपने जीवन समर्पित करने की नियम व मर्यादाओं की प्रतिज्ञाएं की। माउंट आबू से पधारे युगरतन भाई ने आध्यात्मिक गीतों की प्रस्तुति दी साथ ही बाड़मेर से इंटरनेशनल आर्टिस्ट स्वरूप पंवार जी एवं अन्य युवा कलाकारों ने दिव्य नृत्य, गीत नृत्य नाटिका एवं अन्य रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

Previous articleGovernor of Haryana Addresses “Celebrating the Legacy of Brahma” Program
Next articleEradication of Stress Programs for the NSG Personnel in Kolkata