Media conference and inauguration of 3D Rajyoga Meditation Hall at Shivdarshan Museum, Dhamangaon Gadhi

32
परतवाडा/अचलपुर कैंप , दि. 25 शिवदर्शन म्युझियम  थ्रीडी राजयोग मेडिटेशन हॉल का उदघाटन किया गया 
मीडिया प्रतिनिधियों को अपने प्रकाशन, प्रसारण और प्रक्षेपणात  में मूल्यनिष्ठ दृष्टिकोण रखना आवश्यक –  बी के शांतनु भाई 
Paratwada-MH: मीडिया विंग [RERF], ब्रह्माकुमारीज्, माऊंट आबू, राज्य मराठी पत्रकार परिषद, महाराष्ट्र राज्य व अचलपूर तालुका मराठी पत्रकार संघ, अमरावती इनके संयुक्त योगदान से शिव दर्शन म्युझियम धामणगाव गढी (अचलपुर कैंप) यहां पर मीडिया, अध्यात्म और सामाजिक परिवर्तन` विषय पर एक दिवसीय सम्मेलन आयोजन किया गयाप्रारंभ में शिव दर्शन आध्यात्मिक म्युझियम में थ्रीडी राजयोग मेडिटेशन हॉल का उदघाटन किया गया. आध्यात्मिक जीवन शैली अपनाने से सामाजिक जबाबदारी का ध्यान रख संतुलित वृत्तांकन करने में सहायता होगी ऐसी आशा ब्रह्माकुमारी केंद्र के धामणगाव गढी स्थित शिव दर्शन म्यूज़ीयम मे विदर्भस्तरीय पत्रकार सम्मेलन में आये सभी वक्ताओं ने व्यक्त किया.
 
*संजय के समान निष्पक्ष भावना की भूमिका निभानी होगी*
मीडिया, अध्यात्म और सामाजिक परिवर्तन इस मुख्य विषय पर बोलते हुए राजयोगी बीके डॉ.शांतनूभाईजी, राष्ट्रीय संयोजक,मीडिया विंग,ब्रह्माकुमारीज्,मा.आबू  ने कहा कि अध्यात्म माना संसार त्याग नहीं अपितु आंतरिक संसार  परिवर्तन   अर्थात  मन के विषय विकार, व्यसन, अवगुणों का त्याग करना है. इसके लिए.  प्राचीन समय में नारद और संजय आदि के प्रसार माध्यम के प्रतिनिधि हुए . संजय की भूमिका का उदाहरण देते हुए  उन्होंने कहा कि महाराज धृतराष्ट्र को भी संजय ने वही  कहा जो उसे  दिखाई दिया.  संजय जी ने अपना स्वयं का विचार मिक्स नही किया ये आज के TV चैनल सोशल मीडिया इसका ही प्रतीक है. इससे ही हमें मीडिया की भूमिका को समझना होगा.
सम्मेलन का उद्देश्य स्पष्ट करते हुये ब्रह्मा कुमार  डॉ. सोमनाथ वडनेरे, (महाराष्ट्र समन्वयक, मीडिया विंग, जळगाव) ने कहा की मूल्यनिष्ठ समाज निर्माण के लिए ब्रह्माकुमारी संस्था के मीडिया प्रभाग द्वारा देशभर मे मूल्यनिष्ठ पत्रकारिता के विविध कार्यक्रम और उपक्रम आयोजित किये जाते है आध्यात्मिक जीवनशैली अपनाने से ही  दैवी गुणों से सम्पन्न सुगंधीत जीवन द्वारा सामाजिक परिवर्तन किया जा सकता हैं,
सम्मेलन का लक्ष्य स्पष्ट करते हुए पत्रकार श्री. नितेश किल्लेदार,प्रदेश (अध्यक्ष,राज्य मराठी पत्रकार परिषद,) ने कहा कि केवल लिखने का कार्य न करते मीडिया को समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा इसके लिए राज्य मराठी पत्रकार परिषद द्वारा आयोजित कार्यक्रमों व उपक्रमो तथा ब्रह्माकुमारीज् मीडिया विंग माऊंट आबू यहा पर पत्रकारों का राष्ट्रीय संमेलन वर्ष में दो बार आयोजित कर मूल्यनिष्ठ समाज निर्माण का कार्य किया जाता है.
*सकात्मक खबरें मुख्य होनी चाहिये :
श्री. राजेश राजोरे, संपादक, दैनिक देशोन्नती, बुलढाणा आवृत्ती, खामगाव ने अपने विचार रखते हुए कहा की सकारात्मकता को मुख्य समाचार का पद देते हुए हमें कार्य करना चाहिए समाज को सकारात्मक की और ले जाने के लिए हमें कार्य करना आवश्यक है अखबार में रक्तरंजीत, बलात्कार, खून ऐसी घटनाएं न छापते उन्हें दूसरे पन्ने पर छापना चाहिए.
आभार प्रा. ललित कांबले, जिला अध्यक्ष, राज्य मराठी पत्रकार संघ, परतवाडा ने व्यक्त किया तो समेलन का कुशल संचालन राजयोग अभ्यास बीके अविनाश भाईजी, प्रबंधक, शिवदर्शन म्युझियम, धामणगाव गढी ने किया
कार्यक्रम के लिए निलेश किल्लेदार, ललित कांबळे, संजय अग्रवाल, भारत थोरात, आशिष गवई, अनिल गायकवाड ने विशेष परिश्रम किया.
 
*जीवनगौरव तथा नवरतन दर्पण  पुरस्कार :*
इस प्रसंग पर ब्रह्माकुमरिज  मीडिया विंग तथा राज्य मराठी पत्रकार परिषद द्वारा विविध क्षेत्रों के उत्कृष्ठ सेवा करनेवाले व्यक्तिंयों को जीवनगौरव तथा नवरतन दर्पण पुरस्कार देकर सन्मानीत किया गया .  राजयोगिनी ब्र.कु. लतादीदी, ब्र.कु. डॉ. शांतनुभाई, डॉ. सोमनाथ वडनेरे, ब्र.कु. अविनाश भाई, राजेश राजोरे, दिलीप बोरसे, डॉ. आयुष महेंद्र सांगोले, रेटीना सर्जन, ज्ञानेश्वर राऊत, अध्यक्ष गुरुदेव शिक्षण प्रसारक मंडळ, डॉ. कल्पेश तीवारी, शल्य चिकित्सक, जे सी रवि गुप्ता, फार्मासीस्ट, लॉयन पंकज गुप्ता, उद्योजक, लॉयन निलेश गावंडे, सपना ज्वेलर्स के संचालक उद्योजक, संजीवकुमार डागा, उद्योजक, रितेश दिलीपराव पोटे सुषमा थोरात, मंगेश गायकवाड, अरुण वानखेडे, माजी नगराध्यक्ष, बन्टी केजरीवाल, आशिष गवई, सुषमा थोरात ,किरण युवराज गुप्ता
शिवदर्शन म्युझियम में थ्रीडी राजयोग मेडिटेशन हॉल का उदघाटन राजयोगिनी ब्र.कु. लतादीदी, ब्र.कु. डॉ. शांतनु भाई,  ब्र.कु. अविनाश भाई के द्वारा किया गया.
कु. विनीता जोशी, धामणगाव गढी द्वारा स्वागत नृत्य द्वारा उपस्थित मेहमानो का स्वागत किया। सभी का स्वागत ब्र.कु. लता दीदीजी, संचालिका, परतवाडा/धामनगाँव गढ़ी सेवाकेंद्र ने अपने मधुर शब्दों से हुआ.
Previous articleAdbhut Va Vilakshan Jivan Tha Sri Krishna ka
Next articleब्रह्माकुमारीज़ की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी हृदयमोहिनी की तृतीय पुण्यतिथि पर देशभर से आए लोगों ने अर्पित की पुष्पांजली