Media Seminar in Roorkee (UK)

45
Roorkee (UK):- रुड़की- ब्रह्माकुमारीज सेवा केंद्र रुड़की में मीडिया सेमिनार एवं सम्मान समारोह आयोजित किया गया,जिसमे  ‘सकारात्मक परिवर्तन के लिए जागरूक मीडिया’ विषय पर चर्चा की गई।
सेमिनार में मुख्य अतिथि राज्य सभा सांसद डॉ कल्पना सैनी ने माना कि हमे आशावादी एवं जागरूक होकर मीडिया को सकारात्मक बनाना है।उन्होंने कहा कि विसंगतियों के दौर में भी अच्छे लोगो की कमी नही है।आलोचना पर यदि हम प्रतिक्रिया न दे तो आलोचकों की भीड़ को कम कर सकते है,लेकिन यदि आवश्यक ही हो तो द्रढ़ता के साथ प्रतिवाद करना भी बुरा नही है।उन्होंने चरित्र निर्माण को आज के समय की जरूरत बताया।उन्होंने ब्रह्माकुमारीज को विश्व में शांति व सद्भाव की अंतरराष्ट्रीय संस्था बताते हुए कहा कि आज की पत्रकारिता में व्यापक बदलाव आया है,जिसमे सकारात्मक बदलाव की आवश्यकता है। 
माउंट आबू से आए ब्रह्माकुमारीज मिडियाविंग के राष्ट्रीय संयोजक बीके शांतनु ने कहा कि समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने में मीडिया को जागरूक होना जरूरी है. हमें सकारात्मक सोचना है और देश दुनिया में शांति व सद्भाव के लिए कलम चलानी है,तभी लोकतंत्र का यह चौथा स्तम्भ शेष अन्य तीन स्तंभों को मार्गदर्शित कर सकता है। उन्होंने जानकारी दी कि ब्रह्माकुमारीज तनाव रहित पत्रकारिता के लिए मीडिया को तैयार करने में जुटी है।साथ ही उन्होंने पत्रकारों को उनके कैरियर को लेकर जहां कुछ टिप्स दी,वही उन्हें माउंट आबू आने का निमंत्रण भी दिया।
मुख्य वक्ता विक्रमशिला हिंदी विद्यापीठ के प्रति कुलपति डॉ श्रीगोपाल नारसन ने कहा कि रुड़की के पत्रकार सदा सकारात्मक व जागरूक रहते है,इसीकारण यहां मीडिया सशक्त है।उन्होंने ऐसे समाचारों पर जोर दिया जो  शांति व सदभाव पैदा करने वाली हो।
खानपुर विधायक उमेश कुमार ने विषय के पक्ष में अपने विचार व्यक्त करने के साथ ही माना कि आज की पत्रकारिता मृत्यु शय्या पर है और वेंटिलेटर के जरिये सांस ले रही है।ब्रह्माकुमारीज जैसी संस्थाओं द्वारा मीडिया को सकारात्मक रखने की दिशा में पहल कर पत्रकारिता को दम तोड़ने से बचाने का प्रयास कर रही है।
भगवानपुर क्षेत्र की विधायक ममता राकेश ने  मीडिया की विकासात्मक भूमिका की तारीफ की व कहा कि अगर हम अपने दायित्व के प्रति गंभीर रहकर देश व समाज के लिए सेवा भाव से कार्य करे तो सार्थक परिणाम आ सकते है।उन्होंने पत्रकारों के राष्ट्र के प्रति योगदान पर चर्चा की।
शिक्षा विभाग उत्तराखंड के संयुक्त निदेशक डॉ आनंद भारद्वाज ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज संस्था का विज्ञापन मुक्त मीडिया जिस तरह से देश दुनिया में शांति,सद्भाव व चरित्र निर्माण की अलख जगा रहा है,वह अनुकरणीय है।उन्होंने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से मीडिया के महत्व को सिद्ध किया।
राजयोगिनी बीके मीना दीदी ने सभी को राजयोग का अभ्यास कराकर पत्रकारों को आध्यात्म से जुड़ने के लिए प्रेरित किया।राजयोगी बीके सुशील भाई के कुशल संचालन में सभी अतिथियों का शाल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।वही पत्रकारों का भी अभिनन्दन किया गया।
पत्रकारों की समस्याओं के समाधान के लिए ब्रह्माकुमारीज संस्था उत्तराखंड में जगह जगह पत्रकारों को तनाव मुक्ति के गुर सिखाने का अभियान चला रही है। ब्रह्माकुमारीज सेवा केंद्र प्रभारी बीके गीता दीदी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।इस अवसर पर गीतकार सुरेंद्र सैनी,फ़िल्म निर्देशक डॉ सुभाष अग्रवाल, मुंबई फ़िल्म सिटी के मैनेजर रहे ओमवीर सैनी,इतिहासकार कर्ण सिंह,प्रधानाचार्य डॉ घनश्याम गुप्ता, उत्तराखंड के टॉयलेट में रमेश भटेजा, भागवत कथा वाचक संजय सैनी आदि मौजूद रहे।
Previous articleMedia Seminar and Felicitation Ceremony in Haridwar
Next articleMedia Seminar in Rishikesh