Meditation Workshop for Media Professionals at Noida, Delhi NCR

472

Noida (Delhi NCR), 19 Aug : With an objective to enlighten the Media Persons, a workshop on “Developing Inner Powers” was organised at the Brahma Kumaris center in Noida Sector 26.

Addressing the workshop Sister B.K. Reena, Senior Rajyoga Teacher from Bhopal said, “In this hectic life man is passing through the phase of tension. Working in such an atmosphere the level of tension for Media personnel is very high. If only they spare some time early in the dawn and sit in meditation connecting the Self (Soul) with the Supreme Soul our Supreme Father, they get empowered and slowly all their mental tensions will vanish forever from their life. Thereby they will become fully self-confident and they will be able to perform their job more efficiently.”

She further said that this process of Union with Supreme Soul God is called Raja Yoga. She inspired and asked them to learn this Art of Meditation and find for themselves the Key to Happiness in just 5 minutes. She explained how to implement Raja Yoga in their social life. Speaking about Time Management, she said that one must plan their work schedule in advance and try to follow with determination to save valuable time.

Prof. Kamal Dixit, National Convener, Society of Media Initiative for Values and Editor, Rajikhushi Magazine from Indore shared his experiences that he had in life by the regular practice of Raja Yoga. He said that the technique of Raja Yoga taught at all Centres of the Brahma Kumaris Ishwariya Vishwa Vidyalaya is approved by Scientific Research in the world. He said his Will Power and Self-confidence has become unwavering after learning Raja Yoga Meditation.

Sister BK Poonam, Rajyoga Teacher from Faridabad said, “Journalists have the power to influence others’ thoughts. So first of all their thoughts must be positive and constructive. That is because as we think so our life would become. If we work with worry, sorrow, tension, fear and jealousy in mind, the results are found to be accordingly. So we must always have thoughts full of joy, happiness, peace and goodwill.” She further said, “Nothing in the world will change as long as we don’t change ourselves. We never change because we don’t want to sacrifice our comfort zone.”

Mr. Rajiv Nishana, President, Indian Media Welfare Association; Mr. Manohar Singh, President, Delhi Journalists Association; Senior Journalists including Mr. Vinod Purohit, Dr. Pramod Saini and Mr. Sunil Baliyan, all commonly expressed their gratitude, goodwill and best wishes to the Brahma Kumaris and other members. They said, “Everyone in the world wants to gain something from the Media, but here they have been invited by the Brahma Kumaris to take away whatever they can from this Workshop. Having come here they are experiencing a deep sense of inner peace, energy and serenity within, which they never had before in life.”

BK Sushant, the National Co-ordinator of Media Wing, RERF, Brahma Kumaris also addressed  the workshop.

Hindi News:

मीडिया प्रोफेशनल के लिए आयोजित हुई मेडिटेशन वर्कशाप

नौएडा, 19 अगस्तः आपाधापी की इस जिन्दगी में मनुष्य तनाव के दौर से गुजर रहा है, विशेष रूप से मीडियाकर्मी जिस कार्यक्षेत्र की प्रवृति में कार्य करते हैं तनाव का स्तर कई गुना बढ़ जाता है। ऐसे में अगर अपनी बहुमूल्य जिन्दगी के मात्र 5 मिनिट व्यक्ति सुबह के समय परमपिता परमात्मा से खुद को जोड़ शक्ति प्राप्त करे तो उसके जीवन से तनाव कोसो दूर भाग जाता है। जिससे व्यक्ति स्वयं को आत्मविश्वास से सराबोर पाता है एवं अपने कार्य को पहले से भी कई अच्छे तरीके से करने में सक्षम हो जाता है। ईश्वर से कनेक्शन की यह विधि ही राजयोग कहलाती है। उक्त उदगार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेक्टर 26 के तत्वाधान में मीडियाकर्मियों के लिए आयोजित “आन्तरिक शक्तियों का विकास” विषयक संगोष्ठी में भोपाल से आयी वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बी0के0रीना ने प्रस्तुत किये।

उन्होंने मीडियाकर्मीयों को राजयोग की विभिन्न विधियों का व्यवहारिक जीवन में प्रयोग करने के सहज तरीके भी बताये, जिसमें विशेष रूप से समय प्रबंधन के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि प्रत्येक  व्यक्ति को अपने कार्ययोजना का लक्ष्य पहले से ही तय करते हुए उसे निर्धारित समय में पूरा करने का दृढ़ संकल्प सहित प्रयास करना चाहिए।

इस अवसर पर फरीदाबाद से पधारी राजयोगिनी ब्र0कु0 पूनम ने कहा कि पत्रकार के हाथ में दूसरों के विचारों को प्रभावित करने की शक्ति होती है इसलिए उनके स्वयं के विचार भी सकारात्मक होने चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसा हम सोचेगें वैसी ही हमारी परिस्थितियां होगी। यदि हम चिन्ता, दुख, तनाव, ईषा के विचारों में रहकर कार्यक्षेत्र में कार्य करेगें तो हमारी परिस्थितियां भी वैसी ही होगी इसलिए हमें अपनें विचारों को खुशी के, सुख के एवं सदभावना के बनाना होगा। उन्होंने कहा कुछ नहीं बदलेगा जब तक हम स्वयं को नहीं बदलेगें। हम इसलिए नहीं बदल पाते क्योंकि हम अपने कमफर्ट जोन को नहीं छोड़ना चाहते।

इस मौके पर इन्दौर से पधारे वरिष्ठ पत्रकार प्रो0 कमल दीक्षित ने अपने जीवन में राजयोग से हुए लाभों को सांझा करते हुए बताया कि ब्रह्माकुमारी संस्था में सिखाये जा रहा राजयोग की विधि तार्किक एवं वैज्ञानिक आधार पर खरी उतरती है। उन्होंने बताया कि कैसे जीवन में राजयोग के शामिल होने से लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए दृढ़ता आयी और सहज ही उनकी प्राप्ति हुई।

इण्डियन मीडिया वेलफेयर ऐसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव निशाना, दिल्ली जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोहर सिंह एवं अन्य वरिष्ठ पत्रकार जैसे कि विनोद पुरोहित, डा0 प्रमोद सैनी तथा सुनील बलियान ने इस अवसर पर अपनी शुभकामनायें दी। ये सभी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि मिडिया से लेना सब चाहते हैं परन्तु इस संगोष्ठी में ब्रह़माकुमारी संस्था ने हम मीडियाकर्मी को देने के लिए आमंत्रित किया है। यहां पर आकर हमें गहरी आन्तरिक शान्ति, शक्ति एवं सुकुन की अनुभूति हो रही है।

 

Previous articleWatch “Tribute to Dadi Prakashmani” on Her 11th Ascension Anniversary
Next articleWatch Special Documentary on Dadi Prakashmani on Her 11th Commemoration Day.