Defense Minister Rajnath Singh Addresses Grand Maha Shivratri Festival at Red Fort, Delhi

685

New Delhi : A grand spiritual celebration was held on the occasion of the Mahashivratri festival by the Brahma Kumaris at the Redfort in Delhi. Honorable Defense Minister of India, Mr Rajnath Singh, was the chief guest at this occasion. He unfurled the flag of the Supreme Soul, God Shiva.

Hon. Defense Minister said that the message of world peace and harmony is given by Bharat through “Vasudaiva Kutumbakam” (World is one family). This vision is possible by connecting to God Shiva through His messengers. Shivratri inspires us to get rid of our evil tendencies. He appreciated the efforts of the Brahma Kumaris to take Rajayoga meditation to all corners of the world. Anyone who connects with Shiva connects with the idea of India. Brahma Kumari sisters are example in the field of yoga in India. They personify a yogic lifestyle and give the message of peace and harmony throughout the world. He sought their cooperation in making people trust in politicians again.

Rajyogi Brother BK Brij Mohan, Additional Secretary General of the Brahma Kumaris, explained the meaning of Mahashivaratri in the present context. He said that the Supreme Soul gives us power to destroy all bad tendencies. By doing so, we can bring in the Golden Age.

Rajyogini Sister BK Asha, Director of the Om Shanti Retreat Center in Gurugram (Delhi NCR), and coordinator of this program, said that for all those seeking to get rid of pain and suffering, connecting to the Supreme Soul is the way.

Sister BK Shivani, International Spiritual Orator, said that the Supreme Soul comes to earth to destroy the darkness of human ignorance. This leads to a Golden Age of light.

Dr. Mohit Gupta, Medical Officer of G. B. Pant Hospital, Delhi appealed to the audience present to leave all bad habits and try to give happiness to all. Rajayoga is helpful in getting rid of all negativity and being positive.

108 Brahma Kumaris sisters held a large collective Rajayoga session with guided meditation. Vibrations of world peace and harmony were spread through it. The programme was attended by 30,000 people.

News in Hindi:

लाल किला मैदान में महाशिवरात्रि आध्यात्मिक महोत्सव सम्पन्न

  • हज़ारों श्रद्धालुओं ने लिया बुराई छोड़ने और अच्छाई अपनाने का शुभ संकल्प।                      
  • शिव की शक्ति 108 ब्रह्माकुमारियों ने विश्वशांति हेतु कराया सामूहिक राजयोग मैडिटेशन।

‘परमात्मा शिव की शक्ति से ही विश्व शांति एवं भाईचारा संभव‘- राजनाथ सिंह

“राजनीति से उठ रहा लोगों का विश्वास। इस संकट को दूर करना जरूरी। ब्रहमाकुमारी बहनों से की मदद की अपील” – राजनाथ सिंह

“ब्रहमाकुमारी के हर कार्यक्रम में शामिल हूंगा।”– राजनाथ सिंह

दिल्ली: महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में  प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा स्थानीय लालकिला मैदान में आयोजित आध्यात्मिक महोत्सव का, एक विशाल सार्वजनिक कार्यक्रम, बड़ी धूमधाम से आज सम्पन्न हुआ। तीस हजार शिव श्रद्धालुओं ने कार्यक्रम से लाभ लिया ।

कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए, केन्दीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा की विश्व शांति, वसुधेव कुटुम्बकम एवं विश्व बंधुत्व की भावना, मानवता को भारतीय दर्शन एवं संस्कृति की ही देन है, जो शिव और शिव की शक्तियों से जुड़ने से ही साकार हो सकता है।

उन्होंने कहा कि, शिवरात्रि का पावन पर्व, हमे सच्चाई और अच्छाई को अपनाकर असत्य, बुराई एवं नकारात्मक तत्वों पर जीत पाने की प्रेरणा देती है। परमात्मा शिव से जुड़े इन्ही भारतीय मूल्यों, आदर्श, आध्यात्मिकता एवं राजयोग  मैडिटेशन को विश्व के कोने कोने में सभी जाति, धर्म, वर्ग एवं सम्प्रदाय में फैलाने  वाली ब्रह्मा कुमारी संस्था की उन्होंने सराहना की। 

उन्होंने आगे कहा कि जीव से शिव परमात्मा तक की यात्रा योग से ही संभव है जो शिव से जुड़ जाता है वो अखंड भारत से जुड़ जाता है। साथ ही उन्होंने कहा कि योग की दुनिया में ब्रहमाकुमारी बहनें भारत में एक मिसाल हैं। वह न केवल सच्ची योगी हैं बल्कि पूरी दुनिया में शांति व एकता की अलख जगा रही हैं। उन्होंने ब्रहमाकुमारी बहनों से राजनीति से उठ रहे लोगों के विश्वास को वापस लाने में मदद की अपील की। सिहं ने कहा कि वर्तमान में राजनीति एवं राजनीतिज्ञ नेताओं से लोगों का भरोसा हट रहा है जो एक बड़ा संकट है।

रक्षा मंत्री ने संस्थान के वरिष्ठ लोगों के साथ मिलकर शिव परमात्मा का ध्वज भी फहराया।

जी बी पन्त अस्पताल के डोक्टर मोहित गुप्ता ने उपस्थित हजारों श्रधालुओं को बुराई छोड़ने का और सभी के प्रति शुभ भावना और शुभ कामना रखते हुए सबको सुख देने की प्रतिज्ञा कराई। तथा कहा कि सकारात्मक सोच व स्वस्थ आदत अपनाने तथा नकारात्मक नज़रिया व कर्म से बचने हेतु आध्यात्मिक चिंतन एवं राजयोग ध्यान जरूरी है, जो की यह संस्था सिखाती है।

समागम को शिव की शक्ति 108 ब्रह्माकुमारी बहनों ने सामूहिक राजयोग कराया तथा विश्व शांति के लिए शक्तिशाली प्रकाम्पन्न फैलाये ।

ब्रह्मा कुमारी संस्था के मुख्य प्रवक्ता बीके बृजमोहन ने वर्तमान परिवेश में शिवरात्रि का महत्व बताते हुए कहा कि शिव हमें शक्ति देते हैं विकारों को समाप्त करने की। विकारों पर जीत पाकर ही हम कलयुग से वापस सतयुगी दुनिया को ला सकते हैं।

कार्यक्रम की मुख्य संयोजिका एवं ओम शांति रिट्रीट सेंटर की निर्देशिका बीके आशा ने कहा कि दुख और कष्ट में फंसे लोगों की मुक्ति का मार्ग केवल शिव से योग लगाना है। 

आध्यात्कि प्रवक्ता बी के शिवानी ने कहा निराकार शिव परमात्मा धरा पर आकर आत्मा के अंदर व्याप्त अंधकार रात्रि को खत्म करते हैं जिससे मनुष्य जीवन और सृष्टि सतयुगी हो जाती है।

Previous articleMahashivratri Celebrations in Silicon Valley, Milpitas, USA
Next articleShivratri Article- Sanjeevani Daily – Gulbarga