The Governor of Rajasthan Inaugurated the Peace Palace of Brahma Kumaris in Jaipur

65

Jaipur (Raj): The Brahma Kumaris of Muralipura in Jaipur held a program to inaugurate Peace Palace Om Shanti Meditation Center.  The inauguration was done by Kalraj Mishra, the Honorable Governor of Rajasthan, with a ribbon cutting and unveiling the flagstone.

Honorable Governor Kalraj Mishra, while speaking on this occasion, said that Rajyoga Meditation is a must for getting rid of mental pollution.  Peace Palace will play a major role in establishing peace, love, purity, and goodwill in the society.  Spiritual education will reach the masses from here to inspire them to improve their thoughts and mind. Peace is hidden in doing good to others. When we immerse ourselves in the welfare of the world through philanthropy, we find peace.  He felt immense peace here at Brahma Kumaris premises.  The Honorable Governor read the Preamble to the Constitution of India and guided everyone to take a pledge. He had learned about the Thought Lab for the first time here. It is an appreciable and novel initiative.  It will teach people to turn negativity into positivity.

He further said that Brahma Kumaris is the largest spiritual organization in the world led by women. The civilization of Bharat also gives the highest position to women. Brahma Kumaris are dedicated to invoking Divinity in people.  The work of environmental protection and character building being done by them is very relevant.

BK Mruthyunjaya,  Executive Secretary of Brahma Kumaris and Chairperson of the Education Wing of the Rajayoga Education and Research Foundation,  while giving the welcome speech said that the Brahma Kumaris Organization is working dedicatedly for the past 86 years to create a corruption, crime and pollution-free Bharat inhabited by Divine beings.  The Education Wing is establishing Thought Labs all over the country to make people’s minds more positive and powerful.

BK Sheilu, Vice Chairperson of the Education Wing and Senior Rajyoga Teacher from Mount Abu, said that we must sit in solitude daily and contemplate on the purpose of our life. Practice of Rajyoga gives us the true introduction of self and God.

BK Shanta, In-charge of Ajmer Zone of Brahma Kumaris,  said that she has always focused on setting an example through her deeds more than speech.

M. L. Sharma, Vice Chairperson of Business and Industry Wing, said that the knowledge given by Brahma Kumaris is true and that of God Himself.  He considers himself lucky to be an instrument in the making of Peace Palace.  The purity of the Brahma Kumaris sisters attracted him and one day he resolved to make his life pure as well. He has overcome terminal cancer, corona and chikangunia to be completely healthy and dedicated to Godly services at 92 years of age.

Dr. Prof. Mukesh said that we never teach our children how to think. Thought Lab teaches this.  Some 10 thousand students are connected with the Thought Lab running here for the past 7 years.

BK Suman, National Coordinator of the Education Wing of RERF,  coordinated this program.

BK Hema, Director of Peace Palace,  gave the Vote of Thanks.  More than 700 members of the BK family from Jaipur,  Ajmer, Bikaner and Mount Abu were present on this occasion.

Sitaram Aggrawal, State Treasurer of the Congress Committee; Seema Sharma, Deputy Secretary of the State Human Rights Commission; Dr. R. P. Khetan, Director, Khaitan Hospital; and Dr. Sanjay Biyani, Director of Biyani College, etc., were also present.

News in Hindi:

*मानसिक प्रदूषण समाप्त करने के लिए राजयोग मेडिटेशन जरूरी: राज्यपाल*

राज्यपाल ने पीस पैलेस को समाज के लिए समर्पित किया – रिबन काटकर और शिला पट्टिका का अनावरण कर किया उदघाटन – जपपुर, अजमेर, बीकानेर से 700 से अधिक लोग हुए शामिल

25 नवंबर, जयपुर। मानसिक प्रदूषण को समाप्त करने के लिए राजयोग मेडिटेशन आवश्यक है। स्वस्थ जीवनशैली के लिए मानसिक प्रदूषण से मुक्ति जरूरी है। पीस पैलेस समाज में शांति, प्रेम, पवित्रता और सद्भावना की स्थापना में अहम भूमिका निभाएगा। यहाँ से जन-जन को जीवन और विचार बदलने की आध्यात्मिक शिक्षा दी जाएगी। 

उक्त उदगार  राज्यपाल कलराज मिश्र ने ब्रह्माकुमारीज के मुरलीपुरा स्थित पीस पैलेस ॐ शांति मेडिटेशन सेंटर का उदघाटन करते हुए व्यक्त किये। शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि दूसरों के कल्याण में ही शांति समाई हुई है। परमार्थ को लेकर जब हम विश्व कल्याण के लिए जुट जाते हैं तो शांति का भाव प्रकट होता है। यहाँ आकर मुझे भी अदभुत शांति की अनुभूति हुई। 

उन्होंने कहा कि यहाँ आकर पहली बार थॉट्स लैब के बारे में पता चला। मन में एक साथ कई विचार आते हैं, कभी सौहार्द्र, प्रेम, निरंतरता को सकारात्मक स्वरूप का निर्माण करना, निगेटिविटी को पॉजिटिविटी में बदलना यह कार्य थॉट्स लैब में किया जाएगा। जो अपने आप में अनोखा ओर सराहनीय पहल है। 

विश्व की नारी द्वारा संचालित सबसे बड़ी संस्था-

राज्यपाल मिश्र ने कहा ब्रह्माकुमारीज विश्व की नारी द्वारा संचालित सबसे बड़ी संस्था है। हमारी संस्कृति में भी नारी को सर्वोच्च स्थान दिया गया है। हमारे यहां नारी को देवताओं से भी ऊंचा स्थान दिया गया है। कहा जाता है यत्र नार्यस्तु पूज्ययन्ते रमन्ते तत्र देवता। यह संस्था मनुष्य में देवत्व का भाव जगाने में जुटी है। ब्रह्माकुमारीज द्वारा प्रति वर्ष अभियान चलाकर बड़ी संख्या में पौधारोपण किया जाता है। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में संस्था कि यह अनुकरनीय पहल है। संस्था द्वारा व्यक्तित्व निर्माण का जो कार्य किया जा रहा है वह आज बहुत जरूरी है। 

भारत फिर से देवभूमि बनेगा-

ब्रह्माकुमारीज के कार्यकारी सचिव एवं शिक्षा प्रभाग के अध्यक्ष राजयोगी ब्रह्माकुमार मृत्युंजय भाई ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि भारत को देवभूमि, स्वर्ग भूमि , भ्रष्टाचारमुक्त, अपराधमुक्त, प्रदूषण मुक्त भारत और निःशुल्क शिक्षा के स्वप्न को लेकर संस्थान 86 वर्षों से कार्य कर रहा है। लोगों के थॉट्स के लेवल को पॉजिटिव और पॉवरफुल बनाने के लिए शिक्षा प्रभाग द्वारा देशभर में थॉट्स लैब की स्थापना की जा रही है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों के विचारों को पॉजिटिव बनाने के लिए सेवा चल रही है। 

हम सभी आत्मा हैंपरमधाम की निवासी हूं

माउंट आबू से पधारी वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका एवं शिक्षा प्रभाग की उपाध्यक्ष राजयोगिनी बीके शीलू दीदी ने कहा कि रोज कुछ पल एकांत में बैठकर सोचें कि मैं क्यों इस सृष्टि पर आता हूँ, मेरे जीवन का लक्ष्य क्या है, मुझे क्या करना है। राजयोग के अभ्यास से हमें स्व का और परमात्मा का सत्य परिचय मिलता है। वास्तव में हम सभी आत्मा हैं। शरीर हमारा एक वस्त्र है, हमें अपना पार्ट पूरा कर अपने घर शान्तिधाम जाना है। यहाँ तो मैं अतिथि बनकर आयी हूं। अजमेर सबजोन की निदेशिका राजयोगिनी बीके शांता दीदी ने कहा कि जब से मैं इस ईश्वरीय विश्व विद्यालय से जुड़ी हूं तब से लेकर आज तक मेरा प्रयास रहा है कि मैं बोलने से ज्यादा अपने कर्मों से प्रेक्टिकल उदाहरण पेश करूं। 

यहाँ दिया जा रहा ज्ञान सत्य और परमात्मा का है

पीस पैलेस भवन की स्थापना में अहम भूमिका निभाने वाले व्यापार एवं उद्योग प्रभाग के उपाध्यक्ष एमएल शर्मा ने कहा कि खुद को भाग्यशाली समझता हूँ कि परमात्मा ने मुझे अपने कार्य में सहयोगी बनाया। यहां मुझे ब्रह्माकुमारी बहनों की पवित्रता ने आकर्षित किया और उसी दिन सोचा कि मुझे अपना जीवन पवित्र बनाना। मुझे 6 साल पहले लास्ट स्टेज का कैंसर हो गया था और डाक्टर्स ने मना कर दिया था कि बचने की कम उम्मीद है। फिर मुझे चिकनगुनिया और कोरोना हुआ लेकिन 92 वर्ष की उम्र में भी आज पूरी तरह स्वस्थ हूं और ईश्वरीय सेवा में जुटा हूं। मैं अपने अनुभव से कह सकता हूं कि यहाँ दिया जा रहा ज्ञान सत्य है और स्वयं परमात्मा द्वारा दिया जा रहा है। 

थॉट्स लैब से सिखा रहे सोचने का तरीका

डॉ.प्रो. मुकेश भाई ने कहा कि हमने अपने बच्चों को सबकुछ सिखाया लेकिन यह नहीं सिखाया कि सोचना कैसे है। नकारात्मक विचारों को सकारात्मक और हीन विचारों को उत्साह में बदलें। पिछले सात साल से थॉट्स लेबोरेटरी चल रही है। इसमें अब तक दस हजार विद्यार्थी जुड़े हैं। जो बच्चे पहले हीन भावना, नशे से जुड़े थे आज वह उत्साह के साथ बदलाव की नई इबादत लिख रहे हैं। थॉट्स लैब में विद्यार्थियों को सोचने का तरीका सिखाया जा रहा है संचालन शिक्षा प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजिका बीके सुमन ने किया। आभार पीस पैलेस की निदेशिका बीके हेमा दीदी ने माना। इस मौके पर जयपुर सहित अजमेर, बीकानेर और माउंट। आबू से आये 700 से अधिक बीके भाई-बहने मौजूद रहे। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष (राज्य मंत्री रिको दर्जा प्राप्त) सीताराम अग्रवाल, स्टेट ह्यूमन राईट कमीशन की डिप्टी सेक्रेटरी सीमा शर्मा, डॉ आरपी खेतान, डायरेक्टर खेतान हॉस्पिटल, डॉ. संजय बियानी, डायरेक्टर बियानी ग्रुप ऑफ़ कॉलेज, जगदीश सोमानी अध्यक्ष रिक्रिएशन क्लब वीकेआईऐ सहित शहर के गन-मान्य जन उपस्थित थे।

 

Previous articleBK Sisters Felicitating H.E. ​Smt. Draupadi Murmu, the President of India ​at Raj Bhawan, Puri (Odisha)
Next articleBrahma Kumaris Innerspace Wembley Welcomes Multi-Faith Peace Walk