President of India graces the National Launch of ‘Spiritual Empowerment for a Clean and Healthy Society’

8

PRESIDENT OF INDIA GRACES THE NATIONAL LAUNCH OF ‘SPIRITUAL EMPOWERMENT FOR A CLEAN AND HEALTHY SOCIETY’ ORGANISED BY BRAHMA KUMARIS
Rashtrapati Bhavan : 27.05.2024

New Delhi (DL): The President of India, Smt Droupadi Murmu graced the National Launch of ‘Spiritual Empowerment for a Clean and Healthy Society’ organised by Brahma Kumaris in New Delhi today (May 27, 2024).

Speaking on the occasion, the President said that the golden chapters of world history and the history of nations have always been based on spiritual values. World history is witness to the fact that disregarding spiritual values and adopting only the path of material progress has ultimately proved disastrous. Holistic well-being is possible only on the basis of a healthy mentality. A truly healthy person meets all three dimensions – physical, mental and spiritual. Such individuals create a healthy society, nation and world community.

The President said that spiritual empowerment is the real empowerment. When the followers of any religion or sect deviate from the path of spirituality, they become victims of fanaticism and suffer from an unhealthy mentality. Spiritual values connect people of all religions to each other.

The President said that working with the spirit of public welfare while rising above selfishness, is a social expression of inner spirituality. Doing charity for the public good is one of the most important spiritual values.

The President said that the forces promoting fear, terror and war are very active in many parts of the world. In such an environment, Brahma Kumari Institution has provided an effective platform for the empowerment of humanity through many centers in more than 100 countries. This is an invaluable effort to strengthen universal brotherhood by promoting spiritual values.

The President was happy to note that the Brahma Kumaris Institution is probably the world’s largest spiritual institute run by women. She said that in this organisation, Brahma Kumaris remain in the front and their associates Brahma Kumars work in the background. With such a unique harmony, this institution is continuously moving forward. By doing so, it has presented a unique example of spiritual progress and women empowerment to the world community.


Hindi News

भारत की राष्ट्रपति ब्रह्माकुमारी द्वारा आयोजित ‘स्वच्छ और स्वस्थ समाज के लिए आध्यात्मिक सशक्तिकरण’ कार्यक्रम के शुभारंभ समारोह में शामिल हुईं
राष्ट्रपति भवन : 

भारत की राष्ट्रपति, श्रीमती द्रौपदी मुर्मू आज 27 मई, 2024 को नई दिल्ली में ब्रह्मा कुमारी द्वारा आयोजित ‘स्वच्छ और स्वस्थ समाज के लिए आध्यात्मिक सशक्तिकरण’ कार्यक्रम के शुभारंभ समारोह में शामिल हुईं।

इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व इतिहास के तथा राष्ट्रों के इतिहास के स्वर्णिम अध्याय सदैव आध्यात्मिक मूल्यों पर आधारित रहे हैं। विश्व इतिहास साक्षी है कि आध्यात्मिक मूल्यों का तिरस्कार करके केवल भौतिक प्रगति का मार्ग अपनाना अंततः विनाशकारी ही सिद्ध हुआ है। स्वच्छ मानसिकता के आधार पर ही समग्र स्वास्थ्य संभव होता है। सही अर्थों में स्वस्थ व्यक्ति शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक तीनों आयामों पर खरा उतरता है। ऐसे व्यक्ति स्वस्थ समाज, राष्ट्र और विश्व समुदाय का निर्माण करते हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि आध्यात्मिक सशक्तीकरण ही वास्तविक सशक्तीकरण  होता है। जब किसी धर्म और पंथ के मानने वाले अध्यात्म के आधार से हट जाते हैं तो वे धर्मान्धता का शिकार हो जाते हैं, अस्वस्थ मानसिकता से ग्रस्त हो जाते हैं आध्यात्मिक मूल्य सभी धर्मों के लोगों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि स्वार्थ से ऊपर उठकर लोक-कल्याण की भावना से कार्य करना, आंतरिक आध्यात्मिकता की सामाजिक अभिव्यक्ति है। लोक-हित यानी परोपकार करना सबसे महत्वपूर्ण आध्यात्मिक मूल्यों में से एक है।

राष्ट्रपति ने कहा कि भय, आतंक और युद्ध को बढ़ावा देने वाली शक्तियां विश्व के कई हिस्सों में बहुत सक्रिय हैं। ऐसे वातावरण में ब्रह्माकुमारी संस्थान ने 100 से अधिक देशों में अनेक केन्द्रों के माध्यम से मानवता के सशक्तीकरण का प्रभावी मंच उपलब्ध कराया है। यह आध्यात्मिक मूल्यों के प्रचार-प्रसार द्वारा विश्व बंधुत्व को शक्ति प्रदान करने का अमूल्य प्रयास है।

राष्ट्रपति को यह जानकर प्रसन्नता हुई कि ब्रह्मा कुमारी संस्थान महिलाओं द्वारा संचालित किया जाने वाला विश्व का संभवतः सबसे बड़ा आध्यात्मिक संस्थान है। उन्होंने कहा कि इस संस्थान में ब्रह्माकुमारी बहनें आगे रहती हैं तथा उनके सहयोगी ब्रह्माकुमार भाई नेपथ्य में कार्यरत रहते हैं। ऐसे अनूठे सामंजस्य के साथ, यह संस्थान निरंतर आगे बढ़ रहा है। ऐसा करके, आप सबने विश्व समुदाय के सम्मुख आध्यात्मिक प्रगति और महिला सशक्तीकरण का अद्वितीय उदाहरण प्रस्तुत किया है।

Previous articleNational Media Conference – Anand Sarovar (Shantivan), Abu Road 26- 30, Sept. 2024