Grand Diwali Celebrations in Gyansarovar, Mount Abu

178

Mount Abu (Raj): The Brahma Kumaris celebrated the 85th Diwali at Gyansarovar in a grand manner. Members of the Brahma Kumaris fraternity from India and abroad attended this event.  BK Dr. Nirmala, Director of Gyansarovar; BK Jayanti, Additional Chief of Brahma Kumaris, BK Brijmohan, Additional General Secretary of Brahma Kumaris, BK Munni and BK Shashi, Joint Chief of Brahma Kumaris, BK Sudesh, Director of Brahma Kumaris in Europe and the Middle East Region; BK Mruthyunjaya, General Secretary of the Brahma Kumaris; BK Dr. Pratap Midha, Director, Global Hospital and many senior rajayogis were from India and abroad were present on this occasion.

BK Dr. Nirmala, Director of Gyansarovar, gave the welcome speech. She expressed her gratitude towards all the seniors and the audience for attending the event. She gave special thanks to those who offered services for making this program happen.

BK Jayanti, Additional Chief of the Brahma Kumaris, in her address congratulated everyone for being able to witness this happy occasion. She recounted the founding days of Gyansarovar and those many personalities who had offered loving services to this place. She also expressed good wishes for the divine services rendered by Gyansarovar and the residents of Gyansarovar over the years.

BK Brijmohan, Additional General Secretary of Brahma Kumaris asked everyone to  keep the inner light ignited on all circumstances and remain happy.

BK Munni, BK Mruthyunjaya, BK Shashi, BK Dr. Pratap also expressed their good wishes and blessings on this occasion.

Everyone paid loving remembrance to Brahma Baba, the Founder of this organization, Dadis and specially Dadi Chandramani, Dadi Manohar who sustained Gyansarovar which was inaugurated 28 years ago.

The Madhurvani Group entertained the audience with divine music and songs. Dance by BK family from Spain,  enlivened the whole atmosphere. BK Suman well co-ordinated the stage program.

Hindi News

न को ज्ञान से रोशन करने का उत्सव है दीवाली
ब्रह्माकुमारी संगठन के ज्ञान सरोवर में दीवाली कार्यक्रम

ब्रह्माकुमारी संगठन की अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी जयंती बहन ने कहा कि दीपावली उत्सव मन के अंधकार को समाप्त कर ज्ञान से रोशन करने का उत्सव है। अज्ञानता के तिमिर से ही जीवन में समस्याओं का आगमन होता है। जीवन को निरंतर प्रकाशवान बनाए रखने के लिए सत्य ज्ञान की ज्योति प्रज्जवलित करनी चाहिए। मन को प्रदूषित करने वाले विचारों से मुक्ति के लिए परमात्मा का ज्ञान अंगीकृत करने की जरूरत है। सदाचारी, त्यागी, तपस्वी व निरंहकारी व्यक्ति ही समाज के समक्ष ऊंच आदर्शों की प्रतिमूर्ति बनता है। यह उद्गार उन्होंने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के ज्ञान सरोवर अकादमी परिसर में दीवाली के उपलक्ष्य में आयोजित को कार्यक्रम में व्यक्त किए।
संगठन की अतिरिक्त सचिव बृजमोहन आनंद ने कहा कि भारत की धर्मपरायण जनता का त्यौहारों में अटूट विश्वास होने से समस्त विश्व में देश की महिमा अनुपम है। आत्मज्योति जगाने से मानव के मन में छाया अज्ञान अंधकार दूर होगा। सामाजिक सदभाव बढ़ेगा।
संयुक्त मुख्य प्रशासिका, ज्ञान सरोवर निदेशिका डॉ. निर्मला ने कहा कि अंतर्मन में सदविचारों का उदगम होने से मानसिक शक्ति का विकास व मन की प्रफुल्लता बढ़ती है।
संयुक्त मुख्य प्रशासिका बीके शशि बहन ने कहा कि अंतराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कर चुका दीपावली पर्व विश्व समुदाय में आंतरिक प्रकाश फैलाने का अदभुत कार्य कर रहा है। सकारात्मक सोच में नए जीवन, नए समाज व नए विश्व की रचना करने की अदभुत शक्ति है।
शिक्षा प्रभाग अध्यक्ष बीके मृत्युजंय ने कहा कि त्यौहार भारत की प्राचीन संस्कृति, सभ्यता के समन्वय सेतु व नैतिक मूल्यों की सुरक्षा के साथ राष्ट्रीय एकता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण हैं। सकारात्मक संकल्पों व राजयोग से सात्विक भावनाओं की आत्मज्योति प्रज्जवलित होती है।
इस अवसर पर संयुक्त मुख्य प्रशासिका बीके लक्ष्मी बहन, ग्लोबल अस्पताल निदेशक डॉ. प्रताप मिढ्ढा संगठन के मीडिया प्रभाग प्रमुख बीके करूणा, शांतिवन प्रबंधक बीके भूपाल भाई, चिकित्सा सेवा प्रभाग के डॉ. बनारसी लाल साह, विज्ञान व तकनीकी प्रभाग प्रमुख मोहन सिंहल, सुरक्षा सेवा प्रभाग अध्यक्ष अशोक गाबा आदि ने भी विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर विभिन्न देशों से आए राजयोगी श्रद्धालूओं ने भारतीय प्राचीन संस्कृति के अनुरुप विभिन्न देवी-देवताओं की महिमा पर आधारित गीतों की प्रस्तुति देते हुए नृत्य कर बड़ी संख्या में देश-विदेश से आए श्रद्धालूओं को भावविभोर कर दिया।

Previous articleLyubov Kazarnovskaya, Famous Opera Singer, Bolshoi Theatre, Visits Brahma Kumaris in Moscow
Next articleVice President of India, Jagdeep Dharnkar ji inaugurates the 85th anniversary of Brahma Kumaris