3-Day Seminar for Security Personnel at Om Shanti Retreat Center

437

Gurugram (HR) The Security Service Wing of Brahma Kumaris held a 3-day seminar for all the Senior Officers of Security Services i.e. Defence Forces, Para Military Force, Railway Protection Force and State Police Force, etc.,

The Chief Guest Mr. Ramphal Pawar, Director General, National Crime Records Bureau inaugurated the Seminar by lighting the lamps.

The Special Guest Mr. PK Agrawal, Additional Director General of the Railway Protection Force; BK Brij Mohan, Additional Secretary General of the Brahma Kumaris; BK Asha, Director, Om Shanti Retreat Center, Delhi; BK Shukla, Vice Chairperson of the Brahma Kumaris Security Services Wing; BK Ashok Gaba, Chairperson of the Security Services Wing; BK Shiv Singh, Naval Commander, and Colonel (Retired) BK Sati. addressed the seminar.

Mr. Ramphal Pawar speaking on Soul Empowerment and Inspiring Leadership said, “For all-round progress in life, Spirituality is very essential. By self transformation only can we motivate others.” He said, “I am practicing Rajayoga Meditation since long by which I could reduce my Anger to a great extent and my relationship with others also developed better.”

PK Agrawal stated, “For achieving success in any work in life, having mutual cordial cooperation is very important.” He said, “Efficiency in Work increases with the awakening of the Intrinsic Qualities of Soul. So more such educative programs are needed to be conducted to make Life Tension Free.”

BK Brij Mohan said, “Any work, if done with our limited powers, will yield only limited results, but it becomes easy when performed in the company of God because He is the Ocean of Energy.” He said, “We cannot remain Tension-Free unless we become Fearless. The ignorance of Self-Identity is the root cause of our Fears. We are Body Conscious, which is made of the five elements. It is perishable, that is why we are afraid of losing it. We are in fact imperishable Souls. When we become Soul Conscious all our Fears will vanish.”

BK Asha said, “The True Leader is the One who inspires others through his own exemplary Life. He is the One whose Speech and Actions are one and the same.”

BK Shukla in her oration said that Spirituality teaches us mutual Goodwill. It emerges the attitude of Friendship and Co-operation in life. She said that Spirituality tells us what is Truth.

BK Ashok Gaba gave the audience an overview about the activities performed by the Security Services Wing of the Brahma Kumaris.

Indian Naval Commander Mr. Shiv Singh gave the introduction of the Brahma Kumaris Organization and its activities all over the World.

BK Sati organized and presided over the function.


News in Hindi:

सुरक्षा सेवा बलों के वरिष्ठ अधिकारियों के लिए तीन दिवसीय सेमीनार का आयोजन

जीवन के सर्वांगीण विकास के लिए आध्यात्मिकता ज़रूरी – रामफल पवार

आंतरिक गुणों एवं शक्तियों की जागृति से ही कार्य क्षमता का विकास संभव- पी.के.अग्रवाल

गुरूग्राम: ब्रह्माकुमारीज़ के भौडाकलां स्थित ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर में देश की सुरक्षा सेवाओं से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों के लिए तीन दिवसीय सेमीनार का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के महानिदेशक रामफल पवार ने कहा कि जीवन के सर्वांगीण विकास के लिए आध्यात्मिक ज्ञान बहुत ज़रूरी है। प्रेरक नेतृत्व एवं आत्म-सशक्तिकरण विषय पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि स्वयं के परिवर्तन से ही हम दूसरों को प्रेरणा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि मैं काफी समय से राजयोग का अभ्यास कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि राजयोग से मैंने क्रोध को काफी हद तक नियंत्रित किया है। साथ ही संबंध भी काफी बेहतर हुए हैं।

रेलवे सुरक्षा बल के  अतिरिक्त महानिदेशक पी.के.अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा कि किसी भी कार्य की सफलता के लिए आपसी संबंधों का बेहतर होना बहुत ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि आंतरिक गुणों की जागृति से ही कार्य करने की क्षमता का विकास होता है। उन्होंने कहा कि तनावमुमुक्त जीवन के लिए इस प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन ज़रूरी है।

इस अवसर पर संस्था के अतिरिक्त महासचिव बी.के.बृजमोहन ने कहा कि कोई भी कार्य जब हम अपनी सीमित शक्ति के साथ करते हैं तो उसके परिणाम भी सीमित ही आते हैं। परमात्मा जो कि ऊर्जा का असीमित भण्डार है, उसके साथ जुडऩे से हर कार्य सहज हो जाता है। उन्होंने कहा कि बिना भयमुक्त हुए हम तनावमुक्त नहीं हो सकते। भय का मूल कारण स्वयं के अस्तित्व की जानकारी न होना है। उन्होंने कहा कि हम स्वयं को प्रकृति से जनित एक शरीर मानकर चलते हैं। शरीर विनाशी होने के कारण मन में सदैव उसके चले जाने का भय बना रहता है। जबकि वास्तविक स्वरूप में हम एक अविनाशी आत्मा हैं। आत्मिक स्वरूप की अनुभूति से ही भय समाप्त हो सकता है।

ओ.आर.सी की निदेशिका आशा दीदी ने कहा कि सच्चा लीडर वो है जो अपने जीवन से दूसरों को प्रेरित करता है। असली लीडर वही है जिसकी कथनी और करनी समान हो।

संस्था के सुरक्षा सेवा प्रभाग की उपाध्यक्षा बी.के.शुक्ला दीदी ने अपने आशीर्वचन में कहा कि आध्यात्मिकता हमें आपसी सद्भाव सिखाती है। आध्यात्मिक सशक्तिकरण से ही जीवन में स्नेह और सहयोग की भावना पैदा होती है। उन्होंने कहा कि आध्यात्मिकता हमें सत्य का बोध कराती है।

माउन्ट से पधारे संस्था के सुरक्षा सेवा प्रभाग के अध्यक्ष बी.के.अशोक गाबा ने सुरक्षा प्रभाग द्वारा की जा रही सेवाओं की जानकारी दी। भारतीय नौ सेना के कमाण्डर बी.के.शिव सिंह ने कार्यक्रम के प्रारम्भ में संस्था का परिचय देते हुए, संस्था द्वारा विश्वभर की जा रही सेवाओं के बारे में बताया। कार्यक्रम का संचालन सेवानिवृत कर्नल बी.के.सती ने किया। कार्यक्रम में तीनों सेनाओं सहित अर्धसैनिक एवं राज्य पुलिस बलों के अनेक वरिष्ठ अधिकारियों ने शिरकत की।

Previous articleBrahma Kumaris Address Interfaith Conference for World Peace in Varanasi
Next articleFilm “Letter” (God’s Letter). New version. English version.